मधेपुरा : जमीनी विवाद को लेकर 78 वर्षीय लखन यादव को बेटा, बहु, और पोते ने पीट-पीट कर किया जख्मी, इलाज के दौरान मौत

Spread the news

विज्ञापन
अमन कुमार
संवाददाता, सदर
मधेपुरा

मधेपुरा/बिहार : जमीनी विवाद को लेकर जिले के ग्वालपाड़ा प्रखंड के और आरोपी क्षेत्र के परोकिया वार्ड नंबर आठ निवासी 78 वर्षीय लखन यादव के मंझले पुत्र, पुतोहु एवं पोते ने पीट-पीटकर किया जख्मी कर दिया तथा इलाज के दौरान लखन यादव की मौत हो गई। जिसके बाद लखन यादव के बड़े पुत्र एवं छोटे पुत्र ने लखन यादव के पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया। जहां लखन यादव के परी पुत्र सुरेश यादव एवं सबसे छोटे पुत्र दिनेश यादव के बयान पर सदर थाना की पुलिस ने मामले को दर्ज किया।

विज्ञापन

सदर अस्पताल में लखन यादव के पोस्टमार्टम के लिए पहुंचे उनके बड़े पुत्र सुरेश यादव ने बताया कि वह तीन भाई हैं। जिनमें वह लखन यादव के बड़े पुत्र हैं एवं उमेश यादव मंझले पुत्र हैं तथा दिनेश यादव सबसे छोटे पुत्र हैं। सुरेश यादव ने बताया कि उमेश यादव एवं दिनेश यादव में जमीनी विवाद चल रहा था। रविवार की शाम लगभग चार बजे उमेश यादव एवं उनका पुत्र कुंदन यादव एवं नंदन यादव ने दिनेश यादव के खेत से मकई का पौधा काटकर पूरे डेढ़ कट्ठा जमीन के फसल को बर्बाद कर दिया। इस मामले को लेकर दिनेश यादव स्थानीय मुखिया सुनील कुमार समेत अन्य परिजनों को सूचना दी। जिसके बाद सभी लोगों ने तय किया कि पंचायत बैठा कर मामले का निपटारा किया जाएगा। पंचायत की बात सुनकर सोमवार की सुबह लगभग सात बजे उमेश यादव एवं उनके पुत्र कुंदन यादव नंदन यादव उमेश यादव की पत्नी सुलैना देवी एवं कुंदन यादव की पत्नी मनीता देवी बांस, खंती, दबिया लेकर दिनेश यादव के घर पहुंच कर दिनेश यादव एवं सुरेश यादव तथा उनके परिवार वालों के साथ धक्का-मुक्की करने लगे। जिसे देख तीनों के पिता लखन यादव वहां पहुंचकर बीच-बचाव करने लगे। बीज बचाओ करता देख उमेश यादव, उनकी पत्नी, पुत्र एवं पुतोहु ने लखन यादव पर बांस से वार कर दिया। जिससे लखन यादव बुरी तरह जख्मी हो गए।

विज्ञापन

जख्मी हालत में लखन यादव का लड़का दिनेश यादव एवं सुरेश यादव ने ग्रामीणों की मदद से लखन यादव के इलाज के लिए ग्वालपाड़ा पीएचसी ले गए. जहां चिकित्सकों द्वारा प्राथमिक उपचार के बाद लखन यादव की नाजुक स्थिति को सदर अस्पताल रेफर कर दिया। सदर अस्पताल में भी चिकित्सकों ने लखन यादव की स्थिति नाजुक देखते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया। जिसकी बाद हायर सेंटर ले जाने के क्रम में लखन यादव की मौत हो गई। मौत के बाद मृतक के परिजनों ने शव के पोस्टमार्टम के लिए शव को पुनः सदर अस्पताल लाया. सदर अस्पताल में सदर थाने की पुलिस ने मृतक के सबसे छोटे पुत्र दिनेश यादव का फर्द बयान लिया।

विज्ञापन

सदर थाने को दिए गए बयान में दिनेश यादव ने लखन यादव के मृतक के मंझले पुत्र उमेश यादव, इनकी पत्नी सुलैना देवी, पुत्र कुंदन यादव एवं नंदन यादव, कुंदन यादव की पत्नी मनीता देवी पर बांस, दबिया, खंती से मारपीट कर मार देने का आरोप लगाया है। लखन यादव की मृत्यु के बाद परिवार में मातम पसरा हुआ है. लखन यादव की पत्नी आमला देवी का रोते रोते बुरा हाल हो रहा है। लोगों ने बताया की लखन यादव सत्संग स्वाभाव के थे। रविवार को फारबिसगंज में हो रहे सत्संग में शामिल थे. पुत्र के विवाद को लेकर ही वे रविवार की शाम घर पहुंचे थे।


Spread the news
advertise