पंजाब : लुधियाना शाहीन बाग में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी

फोटो - लुधियाना शाहीन बाग में प्रदर्शन करते हुए पुरूष व महिलाऐं के साथ में नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान लुधियानवी
728x90
Spread the news

विज्ञापन

जनता की आवाज को सरकारें अत्याचार से रोक नहीं सकती – प्रोफेसर सुरिंदर कौर

मेराज आलम
ब्यूरो-लुधियाना, पंजाब

लुधियाना/पंजाब :  दाना मंडी में चल रहे शाहीन बाग प्रदर्शन के आठवें दिन महानगर स्थित क्षेत्र भामीयां, ताजपुर रोड्र चुंगी से वसीम रजा मौलाना जमील मुहम्मद आफताब, याकूब, मिस्बाह मुहम्मद सहुलत, मुहम्मद मुस्तकीम, अब्दूल शकूर मांगट पूर्व सदस्य अल्पसंख्यक कमिशन पंजाब की अध्यक्षता में बड़ी संख्या में मर्द और महिलाऐं शामिल हुई। शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन को संबोधित करते हुए अलग-अलग वक्ताओं ने एन.आर.सी. एवं सी.ए.ए. को लेकर अपने विचार व्यक्त किए। प्रोफेसर सुरेंद्र कौर ने संबोधित करते हुए कहा कि जनता की आवाज को सरकार अपने सरकारी तंत्र के जोर पर दबा नहीं सकती। उन्होंने कहा कि जो भी सरकारें जनता की आवाज को लोकतंत्र में दबाना चाहती हैं उनको एक दिन सत्ता से बाहर जाना होगा।

विज्ञापन

प्रोफेसर सुरेंद्र कौर ने कहा कि भारत देश सभी का है इसको आजाद कराने के लिए हम सभी ने कुर्बानियां दी हैं यहां किसी भी एक धर्म के आधार पर कोई भी कानून नहीं बनाया जा सकता प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए आईआईटी बेंगलुरु के विद्यार्थी पवन सूद ने कहा कि केंद्र की सरकार जिस तरीके से प्रदर्शनकारियों को डिटेन कर रही है उससे यह प्रदर्शन और मजबूत हुआ है। उन्होंने कहा कि की अलग-अलग विश्वविद्यालयों के विद्यार्थी सी.ए.ए. और एन.आर.सी. को संविधान के खिलाफ एक साजिश समझते हुए ही मैदान में आए हैं। उन्होंने कहा कि यह राजनीतिक मसला नहीं है बल्कि देश के आत्मसम्मान और संविधान को बचाने की लड़ाई है।

वर्णनयोग है कि लुधियाना शाहीन बाग के आठवें दिन भी आज बड़ी संख्या में औरतें इस प्रदर्शन में शामिल हुई हैं अलग-अलग इलाकों से आई हुई महिलाओं और लड़कियों ने केंद्र सरकार को जहां सी.ए.ए. और एन.आर.सी. को लेकर कड़े हाथों लिया वहीं एक लडक़ी ने देशभक्ति के लिए अपनी नायाब गज़़ल यह देश हमारा है यह देश हमारा है हिंदू मुस्लिम सिख इसाई आपस में है भाई-भाई इस अंदाज से पड़ी के चारों तरफ से जय हिंद के नारे लगने लगे। आज के प्रदर्शन में बामसेफ मूलनिवासी संघ, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर यूथ क्लब, मस्जिद इंतजामिया कमेटी भामीयां वह अन्य संस्थाओं के लोग भी शामिल हुए।

इस मौके पर संबोधित करते हुए लुधियाना शाहीन बाग से नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवी ने कहा कि समूह धर्मों के लोगों ने रोजाना यहां पहुंच कर इसे सच में भारत का बाग साबित कर दिया है जिसमें हर एक जाति और धर्म के लोग फूलों की तरह शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह जनता का आंदोलन है जो कि जारी रहेगा, पूर्व विधायक तरसेम जोधां ने संबोधित करते हुए कहा कि सी.ए.ए. शरणार्थियों के हक में नहीं सरकार ने शरणार्थियों के भी खिलाफ बनाया है। अगर यह सरकार शरणार्थियों के हक में भी सच्ची होती तो सी.ए.ए. में 6 साल का प्रावधान ना डालते यह राजनीतिक रोटियां सेकने का एक जरिया है, जिससे सरकार समझती है कि वह एक बड़ा वोट बैंक ले जाएगी लेकिन देश का प्रत्येक नागरिक अब धर्म की राजनीति के चक्कर में आने वाले नहीं है। दिल्ली में विकास की जीत हुई है अब लोग विकास की ही बात करते और करते रहेंगे।


Spread the news