मधेपुरा : फेयरवेल छात्र जीवन का एक महत्वपूर्ण पड़ाव-चंद्रिका यादव

फेयरवेल में शामिल बच्चे व शिक्षक
728x90
Spread the news

विज्ञापन

बच्चे विद्यालय व समाज के बने आदर्श-चंद्रिका यादव

मो० नियाज अहमद
ब्यूरो, मधेपुरा

मधेपुरा/बिहार : जिला मुख्यालय के नया नगर मदनपुर माया विद्या निकेतन विद्यालय परिसर में नवम वर्ग द्वारा वर्ग दशम के बच्चों का फेयर वेल का आयोजन कर उन्हें विदा किया गया। इस अवसर पर बच्चों को खूबसूरत उपहार के साथ साथ सभी बच्चों को उनके विशेष प्रतिभा के आधार पर प्रमाण पत्र के साथ सम्मानित भी किया गया।

मौके पर फेयरवेल को संबोधित करते हुए विद्यालय की संचालिका सह निजी विद्यालय संघ की जिला सचिव चंद्रिका यादव ने कहा कि स्कूली छात्र जीवन जिंदगी का प्रारम्भिक महत्वपूर्ण अध्याय होता है और फेयरवेल इसका पड़ाव। स्कूली शिक्षा को पूरा करने के बाद उच्च शिक्षा कि तैयारी होती है।उच्च शिक्षा में स्कूली शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान होता है। आगामी बोर्ड की परीक्षा के लिए शुभकामना देते हुए उन्होंने कहा कि वर्ग दशम के बच्चों ने विभिन्न स्तरों पर विद्यालय को गौरवान्वित किया है जिसके लिए विद्यालय परिवार सदैव उन्हें याद करेगा मीडिया प्रभारी सह वर्ग शिक्षक हर्ष वर्धन सिंह राठौर ने सम्मान समारोह का संचालन करते हुए कहा कि विद्यालय से निकल कर यह बच्चे अपनी इच्छनुसार अलग अलग विधाओं के उच्च संस्थानों में अपने जीवन लक्ष्य की प्राप्ति की तैयारी करेंगे और समाज को अपनी सेवा से लाभान्वित करेंगे।

फेयरवेल कार्यक्रम को संबोधित करती चंद्रिका यादव

उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ रहते रहते ऐसा आत्मीय लगाव हो जाता है कि खुद से अलग करना रास नहीं आता।उप प्राचार्य मदन कुमार और परीक्षा नियंत्रक कृष्णा कुमार ने बच्चों को संबोधित करते हुए उनसे जुड़े यादों को साझा करते हुए कहा कि जीवन सफर में हमेशा उतार चढ़ाव देखने को मिलेंगे लेकिन आगे बढ़ते ही जाना है यही जीवन का परम सत्य है। इस मौके पर बात रखते हुए वर्ग दशम के छात्र बाला कांत, अभिषेक, इंद्रभूषण, सोनमआजाद, मुस्कान, रिया, शिवानी, साक्षी, निशा, इशा खेतान, अपर्णा, रूपमणि, मौसम बारला, अजमेरी शिफा, मेघना सिंह आदि ने अपनी बात रखते हुए विद्यालय से जुड़े यादों को साझा करते हुए कहा कि यह विद्यालय उनके लिए दूसरे घर की तरह रहा जहां बहुत कुछ सीखने को मिलता रहा। शिक्षकों सहित मित्रों से बहुत कुछ सीखने को मिला ।

फेयरवेल कार्यक्रम को शिक्षक मो रिजवान, चन्द्रशेखर झा, आलोक कुमार, कुंदन कुमार, खुर्शीद आलम, राखी जमुआर, मनीष आदि ने भी संबोधित करते हुए वर्ग दशम के बच्चों से जुड़े यादों को साझा करते हुए आगामी परीक्षा व जीवन हेतु शुभकामना दी।


Spread the news