मधेपुरा : धर्म का नफरती लड्डु बांट कर देश को NRC, NPR, CAA में उलझा देश बेचने मे लगा है मोदी – शाह : – कन्हैया

Spread the news

वसीम अख्तर
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : जन गण मन यात्रा के तहत गुरूवार को मधेपुरा के झिटकिया में आयोजित सभा को संबोधित करने जेएनयु छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, कांग्रेस विधायक शकील अहमद एवं जामिया के छात्र वली रहमानी पहूंचे।

देखें वीडियो :

सभा को संबोधित करते हुए जेएनयु के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा की किसी सूरत पर संविधान पर हमला बर्दाशत नही करूंगा । यह देश धर्म के नाम पर एक बार बंट चूका है फिर से इस देश को धर्म के नाम पर बंटने दूंगा । उन्होंने कहा कि संविधान को कमजोर करने के लिये कई प्रकार की साजिश रची जा रही है और धर्म के नाम पर नफरत बांटा जा रहा है। जनता के सवालो का जवाब न देकर उन्हे सीएए एनआरसी एनपीआर में उलझा कर और धर्म का नफरती लड्डु बांटकर सरकारी सम्पत्तियो और कम्पनियो को बेचा जा रहा है। मोदी के विकास का ढोल फट चूका है इसलिए हिन्दू-मुस्लिम कर राजनीत का दूकानदारी कर रहे है । हम अपने देश के तिरंगे और बाबा साहब अंबेडकर के संविधान को बचाने के लिए और जो आजादी हमें 1947 में मिली है उस आजादी को बचाने के लिए हम तमाम लोग संकल्पबद्ध हैं।

यह संघर्ष देश की आइन के तहफ्फुज के लिये है : शकील अहमद

सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस विधायक शकील अहमद ने कहा कि यह संघर्ष देश की आइन के तहफ्फुज के लिये है हमलोग मुहब्बत का पैगाम बांटने वाले हैं। यहां जो लोग है वो संविधान और हिंदुस्तान में विश्वास करते हैं। हमारे पुरखों ने अंग्रेजों को भगाया था. अब अंग्रेजों के जो हिमायती हैं, उन्हें भी हम खदेरेंगे. इस सरकार में आहिस्ते आहिस्ते हिन्दुस्तान की अर्थव्यवस्था चंद हाथो में आ गये और धीरे-धीरे सरकारी कंपनियां बिक रही है और अम्बानी जैसे चंद लोगों के पास अकूत संपत्ति बन रही है। इसे हमलोग नहीं बर्दास्त करेंगे। यह एक लम्बी और संजीदा लड़ाई है। .कट्टर सोच, कट्टर मुहावरे कहीं से आए, इस मुल्क के लिए ठीक नहीं है जो कि पूरे देश मे देखने को मिल रहा है. कुछ लोगों की कट्टर जुबान से परेशानी हो रही है अंत में जय हिन्द के जयघोष के नारे साथ अपने भाषण का अंत किया।

मोदी और शाह तुम्हारा वक्त आया है, हमारा तो दौर आएगा: वली रहमानी ( जामिया छात्र)

वहीं सभा को संबोधित करते हुए जामिया के छात्र वली रहमानी ने कहा कि मोदी और शाह तुम्हारा वक्त आया है, हमारा तो दौर आएगा। भाषण मे जामिया छात्र ने कहा की हमें यह जानना जरूरी है कि हम गौतम बुद्ध की जमीन पर पैदा हुए हैं। नरेंद्र मोदी से बड़ा झूठा और मक्कार कोई नहीं है। हमलोग महात्मा गांधी को मानने वाले हैं कुछ लोग कहते हैं कि यह मुसलमानों की लड़ाई है। लेकिन जब तुम तीन तलाक बिल लाते हो, कश्मीर को लहूलुहान किए, हमलोग चुप रहे। लेकिन अब संविधान बदलने की बात हो रही है जो की हम नहीं होने देंगे। दिल्ली के शाहीन बाग में जिस दिन से महिलाएं धरना में आने लगी, उसी दिन से हमलोग जितने लगे। इस चौकीदार को 2024 में भगाएंगे. दोबारा वे चाय बेचें, देश को बेचने नहीं देंगे। दिल्ली, गुजरात में जबरन मुसलमानों से जय श्री राम कहलवाया जा रहा है। राम सच्चे आदमी थे। राम सत्ता छोड़कर वनवास चले गए, मोदी सत्ता पर बैठा है। मोदी दुकानदार है, दुकान चला रहा है।

वे कहते हैं पाकिस्तान जाओ, पर हमलोग वे हैं जो मरने के बाद इसी मिट्टी में मिल जाएंगे। मोदी को धन्यबाद कहते हुए कहा कि पहले संविधान वकील और जज पढ़ते थे, लेकिन अब 10 साल का बच्चा भी संविधान पढ़ रहा है। अमेरिका में पासपोर्ट देखकर कहा जाता है भारतीय है, लेकिन यहां कहा जाएगा साबित करो। बिहार में हर साल बाढ़ आता है, घर बह जाता है। नागरिकता कैसे साबित करे। डिटेंशन सेंटर में कई हिन्दू मर गए। अप्रैल से एनपीआर का डिटेल मांगा जाएगा, उन्हें कोई कागज नहीं दिखाया जाएगा।

सभा को सीपीआई नेता प्रमोद प्रभाकर, आयोजन समिति अध्यक्ष मुखिया परवेज आलम, माजपा नेता प्रो.  फिरोज मंसूरी, कॉंग्रेस जिलाध्यक्ष सतेन्द्र यादव, राजद नेता ई. कौशल यादव, फुरकान आलम, मुखिया अहद, गणेश मानव, फ्रेंड्स ऑफ तेजस्वी के मो। आलम, प्रवक्ता मो. मुशफीक आलम, वसीमद्दीन, मो.  सद्दाम सहित अन्य वक्ताओं ने भी संबोधित किया ।


Spread the news
advertise