सुपौल : नागरिकता साबित करने आधार कागज नहीं DNA होना चाहिए -पप्पू यादव

728x90
Spread the news

सिकंदर आलम
उप संपादक

सुपौल/बिहार : सविधान बचाओ देश मोर्चा सिमराही के बैनर तले सोमवार को सुपौल जिला अंतर्गत सिमराही बाजार के लखीचंद साहू उच्च विद्यालय के प्रांगण में एनपीआर एनआरसी सी ए ए के विरोध में विशाल जनसभा आयोजन किया गया।

जनसभा के मुख्य अतिथि पूर्व सांसद जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मोदी को लोगो की कागज नही बल्कि डी एन ए की जाँच करना चाहिए जो साबित कर देगा कि भारत के लोग भारतीय है या नही। कहा कि हिन्दू-मुस्लिम दो धर्म औऱ दो विचारधारा जरूर है लेकिन दोनों मजहब के लोगो का खून एक है। मोदी धर्म के चश्मे से मुसलमानो को देखते है भारत का मुसलमान ने जिस तरह तीन तलाक,  मंदिर-मस्जिद मुद्दा पर देश के कानून को माना वह काबिले तारीफ है। सुपौल की पुर्व सांसद कांग्रेस नेत्री रंजीत रंजन ने कहा कि यह आंदोलन  एवं यह सभा किसी दल या किसी धर्म या किसी जात का नही है, यह सभा सविधान बचाने  की है। यह झंडा देश का राष्ट्रीय झंडा है जिस झंडे के नीचे हम सब जमा होकर देश के सविधान के लिए अपनी लड़ाई लड़ रहे है। उन्होंने कहा कि देश मे जो पहले ‘सी ए ए” था उसमे मजहब का नाम नही था लेकिन वर्तमान में जो कानून बनाया गया है उसमें मुस्लिम को वंचित किया गया है जो गलत है। असल बात यह है कि देश मे बढ़ी महंगाई, मंदी, बेरोजगारी आदि से  लोगो का ध्यान हटाने के लिए मोदी एवं अमित शाह नफरत का राजनीति कर रहे है और इस वजह एन पी आर, सी ए ए, एवं एन आर सी जैसा कानून लाए है। कहा कि लोकसभा चुनाब से पहले पुलगामा हमला हुआ जिसमें पूरा देश मोदी का साथ था जिसमे बात आईं की इस घटना के दोषियों को सबक दिया जाएगा। लेकिन आज तक ऐसा कुछ नही हुआ।

ए आई एम आई एम के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल ईमाम ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज देश मे सविधान पर जो खतरा है उसका गुस्सा लोगो मे ऐसा है जैसा आजादी से पहले था आजादी के 72 साल में लोगो मे ऐसा शोला, गुस्सा नही दिखा जो अब नजर आ रहा है। वह इसलिए कि सी ए ए, एन पी आर, एन सी आर का जो काला कानून के तहत देश के सविधान और देश का सेकुलरिज्म पर हमला है वह बर्दाश्त के लायक नही है जिस तरह देश की सीमा पर हमला बर्दाश्त नही किया जा सकता उसी प्रकार सविधान पर हमला बर्दास्त नही किया जा सकता है। यह देश का सविधान की देन है कि गरीब एवं दलित के दरवाजे पर ऊँची जाती एवं अमीर लोग वोट माँगने पहुँचते है। रामबिशनपुर निवासी देश के नामचीन युवा वक्ता वली रहमानी ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा की सरकार आर एस एस के मापदंड पर चल रहा है यह वह “आर एस एस ‘है जिसके नाथूराम गोडसे ने महात्मा गाँधी को मारा। जब महात्मा को गोली लगी तो उन्होंने कहा “हे राम’  उसे गोली जय श्री राम कहने वाले ने मारी। कहा कि सुप्रीम कॉर्ट का आदेश आता है तब आर एस एस आजादी के 52 साल बाद अपने हेडक्वार्टर पर तिरंगा फहराया।

सभा को पूर्व विधायक विजय कुमार गुप्ता, बामसेफ जिलाध्यक्ष बिपिन यादव, कांग्रेस जिलाध्यक्ष बिमल प्रसाद यादव,जाप जिलाध्यक्ष नंद कुमार चौधरी,मौलाना नेमतुल्लाह, अकील अहमद , विजय कुमार यादव,मौलाना नूरूल्लाह, अजीजुर्रहमान, आफताब आलम,परमेश्वर सिंह यादव आदि ने सम्बोधित किया।

इस अवसर पर पूर्व जिलाउपाध्यक्ष मो जियाउद्दीन, हाजी सफीक,  सेफतुल्लाह साहब,बशीर अहमद, डॉ तजमुल, डॉ मकसूद आलम, मो मिनतुल्लाह,  कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष मो जमील अनवर उर्फ टुन्न जी, मो फिदा हुसैन, मो साहेब आजमी, आफताब आजमी, मो जिकरूल्लाह, मो जमशेद मो अफाक आलम आदि के साथ हजारों की संख्या में पुरुष एवं महिला आम जनता मौजूद थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ रमेश प्रसाद यादव ने किया।


Spread the news