मधेपुरा : जेएनयू के छात्रों पर लाठीचार्ज एवं फर्जी एफआईआर के खिलाफ धरना प्रदर्शन

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : छात्र राष्ट्रीय जनता दल के जिला इकाई द्वारा जेएनयू प्रशासन के तुगलकी फरमान के खिलाफ आंदोलन कर रहे जेएनयू के छात्रों पर लाठीचार्ज एवं फर्जी एफआईआर के खिलाफ भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर धरना प्रदर्शन किया गया।

 मौके पर उपस्थित छात्र राजद विश्वविद्यालय अध्यक्ष इशा असलम ने कहा कि जेएनयू प्रशासन ने एक नवंबर को विज्ञप्ति जारी कर जेएनयू में रह रहे छात्रों से वसूली जा रहे शुल्क को बढ़ा दिया, जिसमें कमरे का किराया से लेकर बिजली, पानी, कॉलेज शुल्क एवं मेंटेनेंस शुल्क तक शामिल किया गया, जो अब तक के इतिहास की सबसे महंगी और तानाशाही फरमान है, जिससे विश्वविद्यालय प्रशासन के साथ-साथ केंद्र सरकार की सोची समझी साजिश साफ-साफ दिखता है। छात्र राजद जिलाध्यक्ष सोनू यादव ने कहा कि जेएनयू में सुनाया गया तुगलकी फरमान शिक्षा के माहौल को फिर से हजारों साल पीछे धकेलने और गरीब के बच्चों को शिक्षा से दूर रखने का केंद्र सरकार की सोची समझी साजिश है।

विरोध प्रदर्शन का वीडियो यहाँ देखें :

छात्र राजद की विद्यालय काउंसिल मेंबर माधव यादव, नीतीश यदुवंशी, अमरेश, अक्षय सिद्धांत, कौशल कुमार, मुकेश कुमार एवं लक्ष्मण कुमार ने कहा कि जेएनयू प्रशासन और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ही इस स्थिति-परिस्थिति के लिए जिम्मेदार है। क्योंकि तीन हफ्तों से मिलने की गुजारिश कर रहे सभी छात्रों की बात नहीं सुनी गई। वहीं हमारे संगठन के कार्यकर्ता को बुरी तरह से पीटा गया तथा फर्जी एफआईआर कर गिरफ्तार करना सरकार एवं विश्वविद्यालय प्रशासन की दमनकारी रवैया को दर्शाता है। अगर सरकार की यही नीति रही तो पुनः देश में जेपी आंदोलन का आगाज होगा।

 बसंत कुमार, राजदीप कुमार, राजा कुमार, सोनू कुमार, अभिलाष कुमार, रुपेश कुमार, संजीत कुमार, अक्षय कुमार, सिद्धांत कुमार, अक्षय आदर्श, छात्र राजद सदर प्रखंड अध्यक्ष बिट्टू कुमार, नवीन कुमार, आशीष कुमार एवं विकास कुमार ने कहा कि सरकार एवं विश्वविद्यालय प्रशासन को देश के भविष्य को दमन करने के बजाय उनकी वाजिब मांगों को सुननी चाहिए थी। यही एक स्वस्थ लोकतंत्र का तकाजा है। लेकिन जेएनयू में ठीक इसका उल्टा हुआ। प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर सरकार के इशारे पर पुलिस ने क्रूरता की सारी हदें पार करते हुए लाठियां बरसाई तथा छात्राओं के कपड़े फाड़ दिए गए। जिसकी जितनी निंदा की जाए वह कम ही होगा। विश्व विद्यालय प्रधान महासचिव जापानी यादव चंचल कुमार शिवम कुमार हिमांशु कुमार एवं पप्पू कुमार ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि देश में हर तरफ अराजकता एवं प्राइवेटाईजेशन किया जाना, युवाओं को बेरोजगार करने की सोची समझी साजिश है। जिसका छात्र राजद कड़ी शब्दों में निंदा करती है. मौके पर ज्योतिष कुमार, राहुल पासवान, मनीष कुमार, आनंद कुमार, अजय कुमार, बबलू कुमार सहित अन्य छात्र राजद कार्यकर्ता उपस्थित थे।


Spread the news
advertise