मधेपुरा : आधार कार्ड सेंटर संचालक की मनमानी में नहीं हो रहा सुधार

728x90
Spread the news

आकाश दीप
संवाददाता
उदाकिशुनगंज, मधेपुरा

⇒ दूर-दराज गांव से पहुंच रहे लोगों को महीनों चक्कर लगाने के बाद भी नहीं बन रहा है आधार

⇒ बीडीओ के आश्वासन पर शांत हुआ लोगों का गुस्सा  
उदाकिशुनगंज/मधेपुरा/बिहार : प्रखण्ड मुख्यालय स्थित पंचायत समिति भवन में आधार कार्ड बनाने व संशोधन किए जाने के नाम पर संचालक द्वारा अवैध उगाही  का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। संचालकों की मनमानी के खिलाफ पांच दिनों में दूसरी बार लोग उग्र हुए  ।

देखें वीडियो :

संचालक पर धांधली बरतने का आरोप लगाते हुए लोगों ने केंद्र के सामने जमकर हंगामा किया। वहीं लोगों ने केंद्र के सामने विरोध प्रदर्शन किया। सूचना पर पहुंचे बीडीओ मुर्शीद अंसारी ने आक्रोशित लोगों को शांत कराया। वहीं बीडीओ ने संचालक को आवश्यक निर्देश दिए। बीडीओ ने केंद्र के पास तत्काल अंचल गार्ड की तैनाती की।

वहीँ अधिक भीड़ को देखते हुए बीडीओ ने कहा कि अगले दिन से पंचायत वार रोस्टर के अनुसार आधार का काम होगा । अलग अलग पंचायत की तिथि जारी की जाएगी। वहीं लोगों के मांग पर संचालक को हटाने का भरोसा दिलाया। लोगों का कहना है कि दूर दूर गांव से आधार बनवाने और सुधार कराने पहुंचते है। यधपि दिनभर समय बीतने पर वापस घर लोटना पड़ता है। कई ऐसे लोग भी मिले जो महीनों से आधार कार्ड बनवाने और सुधार करवाने केंद्र का चक्कर लगा रहे हैं। लोगों ने बताया तय राशि से अधिक वसूल किया जाता है। बावजूद की लोगों के काम नहीं हो रहा है। लोगों ने यह भी बताया कि संचालक अच्छा व्यवहार नहीं करते है। कहने पर लोगों से डपट कर बात करते है। लोगों ने संचालक को हटाने की मांग अधिकारी से की। इसे लेकर बीडीओ को आवेदन भी दिया गया है।

विज्ञापन

बता दें कि मुख्यालय स्थित पंचायत समिति भवन में आधार कार्ड बनवाने एवं संशोधन के नाम पर संचालक प्रमोद कुमार पर निर्धारित शुल्क से दुगने रुपये लेकर ग्रामीणों को ठगने का आरोप लोगों द्वारा लगाया जा रहा है। लोगों की माने तो जब ग्रामीण सही शुल्क लेने की बात करते हैं तो संचालक सीधे मुंह बात न करके उनसे आधार कार्ड न बनाने की धमकी देते हैं। इसी को लेकर भारी संख्या में ग्रामीण उक्त सेंटर पहुंचे और अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। ग्रामीणों ने बताया कि आधार कार्ड बनवाने के लिए सेंटर में एक दिन मे केवल दस से पंद्रह आधार ही बनाए जा रहे हैं। जिस पर लोगों का नंबर दस दिन के बाद आता है। यही नहीं जल्दी नंबर लगाने के एवज में चार सौ से पांच सौ रुपयेे की वसूली की जा रही है।

विज्ञापन

मालूम हो कि क्षेत्र में इस समय आधार कार्ड बनाने की प्रकिया चल रही है। प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न पंचायत से पहुँचे ग्रामीणों का आरोप है कि सब काम छोड़ कर सुबह से ही लाइन में हम लोग लग जाते हैं । लेकिन संचालक सेंटर पर एक से दो बजे के बीच आता है। उसमें भी जो ज्यादा राशि देता है उसी का बनाया जाता है। विरोध करने पर भी कोई असर नहीं हो रहा। ग्रामीणों के मुताबिक पुराने कार्डों में दर्ज गलतियों को दुरुस्त करने के नाम पर भी वसूली हो रही है। हंगामा कर रहे दर्जनों लोगों ने अवैध राशि उगाही के विरोध में प्रदर्शन किया।

वही आधार कार्ड के संचालक प्रमोद कुमार ने बताया कि आधार कार्ड संशोधन मे 70 रूपये जबकि नया बनाने मे 50 रुपये निर्धारित है। वहीं शुल्क लिया जा रहा है। ज्यादा रुपये लेने का आरोप गलत है। इससे पहले 18 अक्टूबर को भी आधार कार्ड केंद्र पर धांधली को लेकर लोगों ने हंगामा और प्रदर्शन किया। यद्यपि अधिकारी ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। इस बार बीडीओ ने कार्रवाई का भरोसा लोगों को दिया है। इतना ही नहीं लोगों की शिकायत को गंभीरता से लिया गया है। संचालक को निर्धारित शुल्क की सूची दीवार पर चिपकाने का भी निर्देश दिए गए हैं।
इस बाबत बीडीओ मुर्शीद अंसारी ने बताया कि जांचोपरान्त दोषी पाये जाने पर कार्यवाही की जाएगी। साथ ही संचालक के खिलाफ डीडीसी को रिपोर्ट भेजा जाएगा।


Spread the news