मिलिए अय्याशी को बढ़ावा दने वाले हमारे जनप्रतिधियों से, जो दूसरों पढ़ाते हैं नैतिकता का पाठ और खुद हम्माम में हैं नंगे  

728x90
Spread the news

मणिपुर में स्टडी टूर पर गए बिहार के विधायक गण भारत-म्यांमार सीमा पर मौजूद मोरेह शहर में लड़की के साथ अय्याशी करते कैमरे में कैद हो गए हैं ♦ इस स्टडी टूर में सिर्फ आरजेडी ही नहीं जेडीयू और बीजेपी के विधायक भी शामिल हैं  विधायक यदुवंश कुमार यादव तीन अन्य विधायकों के साथ 1 जून को बिहार विधान सभा की आंतरिक संसाधन और केंद्रीय सहायता पर समिति सदस्य के तौर पर मोरेह के दौरे पर गए थे

इरशाद आदिल 
संवाददाता
छातापुर, सुपौल

सुपौल/बिहार : पिपरा विधानसभा क्षेत्र से विधायक और समिति के अध्यक्ष यादव ने विधायकों की टीम का नेतृत्व किया, जिसमें भाजपा के विधायक सचिन प्रसाद सिंह, जद (यू) के विधायक राज कुमार रायऔर राजद के विधायक राजा पाकर शामिल थे।
इन सदस्यों ने एनडीए सरकार की एक्ट ईस्ट पॉलिसी के तहत उठाए जा रहे विकास कार्यक्रम का जायजा लेने के लिए मणिपुर का दौरा किया था।

इम्फाल टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, विधायकों को मणिपुर राज्य विधान सभा के कर्मचारी निर्देश दे रहे थे। हालांकि, अभी तक यह पता नहीं चला है कि वीडियो में दिख रहे पुरुष समिति के अन्य सदस्य थे या नहीं। रिपोर्ट में बताया गया है कि लड़की की उम्र कम थी ।

वायरल वीडियो पर क्या कहा पप्पू यादव और भाजपा विधायक नीरज बबलू 

क्या कहते हैं जनप्रतिनिधि :- वायरल वीडियो पर जन अधिकारी पार्टी (लो०) के संरक्षक सह पूर्व सांसद ने अफ़सोस जाहिर करते हुए कहा कि जनप्रतिनिधि होने के नाते विधायकों की यह गन्दी करतूत बेहद शर्मनाक है। उन्होंने कहा नेताओं की ऐसी करतूत नइ नहीं है, यह लोग मणिपुर में जाकर रंगरलियाँ मनाये और कुछ लोग तो बैंकॉक चले जाते हैं रंगरलियाँ मनाने, क्योंकि ये नेता बगैर सेक्स और बगैर पैसे के जिन्दा नहीं रह सकते, इन्हें पैसे और औरत सबसे पहले चाहिए और इन सब के बीच अफ़सोसनाक बात तो यह है कि ऐसे ही लोग जनप्रतिनिधि बनते हैं । पप्पू यादव ने कहा कि नेताओं की यह करतूत नइ नहीं नहीं है इससे पहले भी नवल यादव और अनवारुल हक़ को टीवी पर सेक्स करते दिखाया गया, बावजूद जनता ने उसे वोट दिया, जिससे जाहिर होता है कि पब्लिक को ऐसे नताओं और इनके कुकर्म से को लेना-देना नहीं, आजकल ऐसे ही लोग सत्ता पर आसीन होते है ।

वहीँ भाजपा के छातापुर विधायक नीरज कुमार बबलू ने कहा कि ऐसे ही विधायक तमाम विधायक को बदनाम करने का काम करते हैं, विधायक होने के नाते ऐसे लोगों कम से कम विधायक की गरिमा को समझना चाहिए । राजद विधायक को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि उनके पार्टी के मुखिया का भी यही हाल है, तेजस्वी का भी बार बालों के साथ वीडियो वायरल हुआ था, ऐसे मैं उनके विधायक का अय्याशी वाला वीडियो वायरल हो रहा है तो कौन सी बड़ी बात है। वायरल वीडियो में जदयू और भाजपा विधायक का नाम आने के सावल पर उनका बचाव करते हुए भाजपा विधायक ने कहा जब भी ऐसी कमिटी जाती है तो उसमें हर दल के विधायक जाते हैं लेकिन जो कमिटी का नेतृत्व करते हैं उनकी पूरी जिम्मेदारी होती है कि वह कमिटी के सदस्य पर नजर रखे, उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि इस वायरल वीडियो में भाजपा के विधायक हैं, इसमें कमिटी के जो अध्यक्ष हैं उनकी का सीन है और उनका ही यह काम है।        


Spread the news