सुपौल : क़ौमी एकजहती से ही होगा देश का विकास- मिन्नत रहमानी

728x90
Spread the news

सुपौल से कुणाल कुमार की रिपोर्ट 

सुपौल/बिहार : देश की तरक़्क़ी के लिए आपसी भाईचारगी एवं सौहार्द बेहद ज़रूरी है । सरकारें आती जाती रहेंगीं लेकिन हमें अपनी ज़िम्मेदारी को समझना होगा ।

वीडियो :-

 उक्त बातें कहना है बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश अध्यक्ष मिन्नत रहमानी का । स्थानीय बसबिट्टी रोड स्थित चक डुमरिया स्कूल मैदान में क़ौमी एकता जलसा को सम्बोधित करते हुए बतौर मुख्य अतिथि रहमानी ने कहा कि जिस तरह से मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ने कहा था कि हमें वो आज़ादी नहीं चाहिए जिसमें हिन्दु-मुस्लिम एक साथ नहीं रह पाएँगे आज ज़रूरत है उस एकजहती को क़ायम रखने की । देश आज विकास के पायदान पर अग्रसर है इसलिए हम सब को अपनी अपनी भुमिका निभानी होगी ।

उन्होंने कहा कि क़ौमी एकता के मामले में सुपौल हमेशा से बांकी जिलों के लिए एक मिशाल रहा है जहाँ हम सब ईद, होली, दिवाली मिलकर मनाते हुए आ रहें हैं । कार्यक्रम में मुख्यवक्ता इमारत शरिया के क़ाज़ी वसी अहमद क़ासमी ने कहा कि वो शक्श सच्चा मुसलमान हरगिज़ नहीं हो सकता जिसने अपने हाथ से , ज़ुबान से या फिर निगाह से किसी भी धर्म के लोगों को नुक़सान पहुँचाए । जलसा में मदरसा एवं स्कूल के बच्चों के द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम ने हज़ारों की तादाद में मौजूद लोगों के दिल को मोह लिया ।

इस मौक़े पर मो जमालुद्दीन, मो इस्लाम, मो अतिक़ुल्लाह, सीताराम यादव, मो मुस्ताक, मो इसरत, अशोक कुमार शर्मा, नागेश्वर महाराज, दिगम्बर शर्मा, कारी फखरुद्दीन, कारी तुफ़ैल, मो राजिक, ज़फ़र अली, मो क़ुदुन, मो हकीम, शमीम आदि  मौजूद रहे ।


Spread the news