अफसोसनाक : अपनी माँ का शव लेकर सुबह से शाम तक भटकता रहा गरीब भूमिहीन पुत्र  

728x90
Spread the news

प्रिंस कुमार मिठ्ठू
संवाददाता
बिहारीगंज, मधेपुरा

बिहारीगंज/मधेपुरा/बिहार : उदाकिशुनगंज प्रखंड बिहारीगंज थाना अंतर्गत मंजोरा पंचायत वार्ड नंबर 12 के निवासी राज कुमार मंडल की 65 वर्षीय वृद्ध मां रमावती दैवी रविवार की सुबह स्वर्ग सिधार गई। विडंबना आया है कि मृतिका का पुत्र बेहद ही गरीब और भूमिहीन व्यक्ति है। अपनी मां के दाह संस्कार करने लायक भी उनके पास जमीन मौजूद नहीं थी।

रविवार के सुबह से ही अपने मां की अर्थी सजा कर दाह संस्कार के लिए भटकते रहे पर गांव में किसी ने भी 2 गज जमीन दाह संस्कार तक के लिए नहीं दे पाया। तीन जगह शव को जलाने की कोशिश की गई पर तीनों जगह से उसे हटा दिया गया। सब का दाह संस्कार करने के लिए परिजनों को काफी परेशानी हुई अंत में समाजसेवी प्रमोद पासवान के कहने पर नहर के किनारे राज कुमार मंडल ने अपनी मां धूमावती देवी के शव के दाह संस्कार किया।

मृतक के परिजनों ने कहा कि काश इस गांव में भी दाह संस्कार के लिए कोई शमशान होता कोई तो आज यह दंश हमें नहीं झेलना पड़ता। मंजौरा के पूर्व सरपंच अजय शंकर सिंह के द्वारा जानकारी प्राप्त हुआ कि लोकसभा चुनाव 2019 से पहले राजस्व हल्का कर्मचारी रविंद्र यादव श्मशान के लिए मंजौरा मे जमीन सर्वे करने आए थे। उसके बाद चुनाव आ जाने के कारण जमीन सर्वे का मामला अधर में लटक गया।


Spread the news