मधेपुरा : सात दिवसीय शिविर का भव्य उद्घाटन

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार :  पार्वती विज्ञान महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा नवसृजित प्राथमिक विद्यालय जजहट सबेला में रविवार को सात दिवसीय शिविर का भव्य उद्घाटन किया गया। यह शिविर आठ जून तक चलेगी। शिविर का उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे बीएनएमयू पूर्व परीक्षा नियंत्रक सह समाजसेवी डा भूपेंद्र नारायण मधेपुरी, विश्व नशा उन्मूलन एवं कल्याण मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष संत गंगा राम दास समाज सेवी सह खेल प्रशिक्षक संत कुमार, प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रमंडलीय अध्यक्ष बैद्यनाथ यादव तथा महाविद्यालय एनएसएस कार्यक्रम पदाधिकारी डा अभय कुमार ने सामूहिक रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। इस सात दिवसीय शिविर में नशा उन्मूलन, पंजीकरण, गांव की साफ-सफाई, परिवार का सर्वेक्षण, शिक्षा, स्वास्थ्य, आर्थिक स्थिति एवं एड्स के निवारण का व्याख्यान किया गया।
स्वयंसेवकों ने ग्रामीणों को स्वास्थ्य को लेकर किया जागरूक
इस अवसर पर एनएसएस स्वयंसेवकों के द्वारा गांव के बीच लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जागरूक किया. गांव के ग्रामीणों के बीच आस-पड़ोस की साफ-सफाई के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया। साफ पानी एवं शौचालय की साफ सफाई पर ध्यान देने का आग्रह किया गया। इस दौरान चापाकल से बहने वाले पानी तथा गड्ढे की साफ-सफाई के बारे में लोगों को समझाया गया। नियमित साफ सफाई से मलेरिया के मच्छर का नाश हो सकेगा। ग्रामीणों को रोगों से बचने के तरीके बताए गए। साथ ही बच्चों को होने वाले रोग पोलियो, टिटनेस, खसरा, डायरिया, वगैरह से बचाव के लिए जरूरी उपाय बताए गए और नियमित टीकाकरण कराने का आग्रह किया गया। इस क्षेत्र में कई बच्चों का निरीक्षण कर उसे निकटवर्ती अस्पताल में इलाज कराने हेतु अभिभावक से आग्रह किया गया। बच्चों एवं माताओं के खान-पान पर विशेष ध्यान देने हेतु आग्रह किया गया। कार्यक्रम पदाधिकारी ने ग्रामीणों एवं स्वयंसेवको को टीवी, एड्स, मलेरिया जैसे घातक रोग के बारे में बताया. उन्होंने सभी स्वयंसेवकों से आग्रह किया कि अपने परिवारों, मुहल्लों और घरों में अनवरत स्वच्छता अभियान चलाएं।
छात्र जीवन में सीखी बातें आजीवन आती हैं काम
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे बीएनएमयू पूर्व परीक्षा नियंत्रक सह समाजसेवी डा भूपेंद्र नारायण मधेपुरी ने एनएसएस स्वयंसेवकों से कहा कि वे शिविर में बताई गई बातों को जीवन में आत्मसात करें। पूरे मनोयोग से कार्यक्रम में शिरकत करें। उन्होंने कहा कि छात्र जीवन में सीखी बातें आजीवन काम आती है. इसके लिए गंभीर होने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि श्रमदान भी इन्हीं शिविरों की देन होती है. उन्होंने स्वयंसेवियों को शिविर में किये गये कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने की बात कही। कार्यक्रम पदाधिकारी डा अभय कुमार ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में विशेष शिविर के माध्यम से सामाजिक आर्थिक एवं शैक्षणिक विकास संभव होगा।

 वही कार्यक्रम को संबोधित करते हुए समाजसेवी सह खेल प्रशिक्षक संत कुमार ने कहा कि स्वच्छता ही सभी तरह की बीमारियों का इलाज है। उन्होंने ग्रामीण से स्वच्छ समाज के निर्माण में सहयोग करने की अपील की।
उत्तरदायित्व से होता है उत्पन्न आत्मविश्वास
राजद नेता अरविंद कुमार ने कार्यक्रम में उपस्थित बच्चों एवं ग्रामीणों को नशा से होने वाली बीमारियों की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने बताया कि उत्तरदायित्व से आत्मविश्वास उत्पन्न होता है. समाज के सभी समुदाय विशेष कर कमजोर, पिछडे, दलित वर्गाे के उत्थान प्रयासरत रहना चाहिए।  मौके पर उपस्थित समाजसेवी मंगल ऋषिदेव ने शिक्षा के प्रति जागरूकता पर बल दिया।

 कार्यक्रम के दौरान संत गंगा राम दास, संत कुमार तथा बैजनाथ यादव के द्वारा हरिजन बस्ती में साफ सफाई एवं जागरूकता के लिए साबुन – सर्फ का वितरण किया. मौके पर एनएसएस स्वयं सेवक आरती कुमारी, रणस्वी कुमारी, हेमा कुमारी, काजल कुमारी, साहिन कौसर, वज्ररानी कुमारी, मो मेराज आलम, शांतनु यदुवंशी, चंदन कुमार पासवान, अंकेश कुमार, विश्वजीत पीयूष, रानू कुमारी, वैष्णवी कुमारी,कि पूजा कुमारी आरती कुमारी प्रिया कुमारी सहित अन्य ग्रामीण मौजूद थे।


Spread the news