पटना : भूमिहार को कमजोर समझना बहुत बड़ी भूल – उम्मीदवार, आर के शर्मा

728x90
Spread the news

अनुप ना. सिंह
स्थानीय संपादक

पटना/बिहार : परशुराम जयंती के बहाने बिहटा में गरजे पाटलिपुत्र से सवर्ण मोर्चा के उम्मीदवार आर के शर्मा कहा भूमिहार को कमजोर समझना बहुत बड़ी भूल देश की आजादी में और देश के नवनिर्माण में सबसे ज्यादा बलिदान इसी समुदाय का है।

 मालुम हो कि भूमिहार- ब्राह्मण संघ द्वारा भगवान परशुराम की जयंती आज बीहटा में स्वामी सहजानंद सरस्वती आश्रम में मनाई गई । इस दौरान बुद्धिजीवियों ने भगवान परशुराम के अलौकिक शक्तियों के बारे में लोगों को जानकारी दी। समारोह में भारी तादाद में भूमिहार समाज के लोग शामिल हुए। मौके पर पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र से सवर्न मोर्चा के उम्मीदवार आर के शर्मा ने समाज को एकजुट रखते हुए सभी को साथ लेकर चलने की बात कही।

उन्होंने यह भी कहा कि हम बुद्धिजीवी वर्ग के लोग कहलाते हैं। इस नाते हमारा मकसद होना चाहिए कि सबों को सच्चाई की राह दिखाई जाए। अपने समाज, गांव, एवं देश की तरक्की कैसे हो इस पर विचार किया जाए।उन्होंने इस बात पर भी खुशी जताई कि हम उस समाज से ताल्लुक रखते हैं जिसने देश के लिए सदैव मर मिटने का काम किया है। आरके शर्मा ने कहा कि सुनियोजित साजिश के तहत भूमिहार समाज को राजनीतिक भागीदारी से दूर करने की साजिश रची गई है। समाज के चंद मुट्ठी भर लोग समाज के मान सम्मान को गिरवी रख कर समाज के विकास को रोक रहे है। आरक्षण की मार से पहले ही सरकारी नौकरियों से यह वर्ग दूर हो चुका है जमीन से जुड़ा हुआ है । भूमिहार समाज सरकारी नीतियों के कारण विपन्नता के कगार पर पहुंच चुका है। बौद्धिक रूप से जागृत अपने समाज को नई दशा और दिशा देने के लिए भगवान परशुराम के बताए हुए आदर्शो पर चल कर वे पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र में एक बार पुनः मान सम्मान को बढ़ाएंगे ।

आयोजित समारोह को कई गन्य मान जनों ने भी संबोधित किया।


Spread the news