मधेपुरा : झोला छाप डाक्टर के गलत उपचार से 40 वर्षीय महिला की मौत

728x90
Spread the news

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : मुरलीगंज प्रखंड के अंतर्गत रजनी पंचायत के वार्ड 18 में शुक्रवार की सुबह झोला छाप डाक्टर के गलत उपचार की वजह से एक महिला की मौत होने का मामला सामने आया हैं। मृतका उर्मिला देवी (40) की पति बिरन साह ने बताया कि सुबह कामकाज करने के दौरान उर्मिला के पेट में अचानक दर्द होने लगा। जिस कारण तत्काल उपचार के लिए गांव समीप के झोलाछाप डाक्टर अशोक साह को बुलाया गया।

मौके पर पहुंचे डाॅक्टर ने पीड़ित महिला का उपचार शुरू किया। बताया गया कि इस दौरान तीन सुई दी गई । सुई लगाने के तुरंत बाद पीड़ित महिला अचेत हो गई। परिवार के सदस्यों ने आनन फानन में घरेलू उपचार करने लगे। इंजेक्शन लगाने के आधे घंटे बाद उर्मिला की मृत्यु हो गई। इस बीच मौका देखकर डाॅक्टर फरार हो गया।

बताया गया कि उक्त डाॅक्टर अशोक साह डुमरिया निवासी को महिला की मौत के बाद जानकारी हेतु काफी बुलाया गया। लेकिन डाक्टर द्वारा तरह तरह की बहानेबाजी कर घटना स्थल पर पहुंचने से इंकार कर दिया। वही मृतका के पति बिरन साह ने झोलाछाप डाक्टर पर आरोप लगाते हुए कहा कि गलत उपचार के वजह से पत्नी की मौत हुई हैं। महिला की मौत से परिजनों का रौ – रौ कर बुरा हाल हैं। आस – पड़ोस के लोगों ने बताया कि महिला काफी मेहनती थी। पति खेती कर परिवार के सदस्यों का भरण पोषण करते हैं।

इस संबंध में थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार ने कहा कि सूचना मिलने पर पुलिस पदाधिकारी को मृतिका के घर भेजा गया। परिजनों ने मामला दर्ज नहीं करने का आवेदन दिया है।


Spread the news