मधेपुरा : बिजली विभाग से बिना कनेक्शन लिए अवैध ढंग से लगाए जा रहे हैं स्ट्रीट लाइट

728x90
Spread the news

15 लाख की लागत से मधुबन पंचायत में लगाया जा रहा है स्ट्रीट लाइट, कई लाइट लगाने के बाद हो चुकी है खराब, पंचायत सचिव ने बताया वारंटी में है ठीक कराया जाएगा

प्रिंस कुमार मिठ्ठू
संवाददाता
बिहारीगंज, मधेपुरा

उदाकिशुनगंज/मधेपुरा/बिहार : उदाकिशुनगंज प्रखंड अंतर्गत मधुबन पंचायत में 14 वें वित्त मद्य से ग्राम पंचायत मुखिया कुमुद कुमारी और पंचायत सचिव जयजय राम मेहता के द्वारा लगभग 15 लाख की लागत से पंचायत के 1 से लेकर 12 वार्ड में गैरकानूनी ढंग से बिजली का बिना कनेक्शन लिए पोल पर स्ट्रीट लाइट लगाया जा रहा है। जबकि मामले में डीएम के द्वारा पत्र निकाल कर स्पष्ट निर्देश दिया गया है किसी भी पंचायत में बिना बिजली कनेक्शन लिए स्ट्रीट लाइट नहीं लगाया जाएगा। स्ट्रीट लाइट लगाने का जिम्मा सभी वार्ड के वार्ड सदस्यों को मुखिया और पंचायत सचिव के द्वारा दिया गया है। वार्ड सदस्यों को इसके प्राक्कलन की कोई जानकारी नहीं है।

कुछ वार्ड सदस्यों ने बताया कि हम लोगों को मुखिया और पंचायत सचिव के द्वारा प्रत्येक वार्ड में 12-12 स्ट्रीट लाइट बांट कर दिया गया है और हम लोगों को कहा गया है कि सभी पोल पर लगवा दिया जाए। पंचायत सचिव जयजयराम मेहता ने बताया कि 1 से लेकर 6 नंबर वार्ड तक और 11, 12 नंबर वार्ड में स्ट्रीट लाइट लग चुकी है। वार्ड नंबर 10 में लगाया जा रहा है। 7, 8 और 9 वार्ड का काम कुछ कारणों बस बाकी है। एक स्ट्रीट लाइट का प्राक्कलन लगभग 10 हजार 800 रुपये का बताया। पूरे पंचायत में 144 स्ट्रीट लाइट लगभग 15 लाख की ग्राम पंचायत और प्रखंड द्वारा स्वीकृत है।

स्ट्रीट लगाने के चार-पांच दिनों के बाद ही लाइट खराब होनी शुरू हो गई है। जिस से ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है, पंचायत सचिव जयजयराम मेहता ने बताया कि लाइट वारंटी पर है इसको ठीक कराया जाएगा। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि कई दिनों से कहा जा रहा है कि लाइट ठीक कराया जाएगा पर लाइट ठीक नहीं कराई जा रही है। वहीं लाइट का कीमत के हिसाब से बहुत ज्यादा का प्राक्कलन तैयार किया गया है। ग्रामीणों ने स्ट्रीट लाइट्स योजना में भारी लूट की आशंका जताई है।

वहीं बिजली विभाग के जेई राज नंदन पासवान ने बताया कि हमारे कहने के बावजूद भी बिना बिजली कनेक्शन लिए पंचायत में स्ट्रीट लाइट लगाया जा रहा है, जो कानूनन अवैध है। इसकी रिपोर्ट हम विभाग के उच्चाधिकारियों और जिलाधिकारियों को भेज रहे हैं। प्रखंड में दो-तीन पंचायत में कनेक्शन लेकर स्ट्रीट लाइट लगाया गया है। बाकी पंचायतों में बिना कनेक्शन लिए अवैध ढंग से ग्राम पंचायत के मुखिया के मनमानी के कारण स्ट्रीट लगाया जा रहा है। सभी पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।


Spread the news