नालंदा : पीडीएस दुकानदारों की मनमानी, गरीबों को अनाज से किया जा रहा है वंचित

728x90
Spread the news

मो0 मुर्शीद आलम
ब्यूरो, नालंदा

नालंदा/बिहार : जिले में पीडीएस दुकानदारों की मनमानी थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। जबकि राज्य सरकार ने गरीबों के लिए बीपीएल में अनाज देने की योजना है। जिले के सिलाव प्रखंड के मोहुरी पंचायत के दर्जनों महिला वर्ग पुरुष ने जिला मुख्यालय बिहार शरीफ आ कर जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह से भेंट कर शिकायत की। मोहुरी पंचायत के करीब 250 गरीबों को जन वितरण प्रणाली के द्वारा मिलने वाला अनाज डीलरों के द्वारा नहीं दिया जा रहा है और गरीबों के साथ शोषण किया जा रहा इसकी शिकायत जब लोग शिकायत निवारण के दरवाजा खटखटा शिकायत दर्ज की गई ।

जब इस बात की सूचना पीडीएस दुकानदारों को मिली तो आग बबूला हो गया और गरीब को मारने और धमकी देने की बात करने लगे। इसी घटना को लेकर मोहुरी पंचायत के दर्जनों लोगों ने जिलाधिकारी से अपनी फरियाद लेकर आए उन्होंने कहा की आज पीडीएस दुकानदारों की मनमानी रुकने का नाम ही नहीं ले रहा। गरीबों का अनाज को हड़प कर दलालों की चांदी हो रही है। दलाल मालामाल और गरीब कंगाल वाली कहावत चरितार्थ हो रही है नालंदा जिले में और गरीबों को बीपीएल में मिलने वाले अनाज से वंचित होना पड़ रहा है। कई बार तो गरीबों को बार-बार दौड़ आने के बाद भी अनाज नहीं देते हैं गरीब आशिक्षित होने का पूरा लाभ उठाते हैं हद तो तब हो जाती है जब गरीब का राशन कार्ड भी राशन दुकानदार अपने पास रख लेते हैं ।

इन तमाम घटनाओं पर जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने कहा इस घटना पर डीलरों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी और उनके लाइसेंस को रद्द कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

बहरहाल अब तो आने वाला समय ही बताएगा कि डीलरों के साथ जिला प्रशासन किस तरह का रवैया अख्तियार करती है और गरीबों को कब इंसाफ मिलता यह तो समय ही बताएगा फिलहाल सभी गरीब फिर अपने गांव वापस लौट गए।


Spread the news