छात्र आतिफ़ अहमद बने सुपौल और सहरसा के जिला टॉपर,  बिहार में मिला पांचवा रैंक IAS बनने की इच्छा

सहरसा से सरफराज आलं की रिपोर्ट :

सहरसा/बिहार : सीबीएसई 10 वीं की रिजल्ट में दिल्ली पब्लिक स्कूल के छात्र आतिफ़ अहमद ने 98% फीसदी अंक हासिल कर के सुपौल और सहरसा जिला का नाम रोशन किया है। सहरसा और सुपौल में टॉपर बनने वाले पहले मुस्लिम छात्र हैं।

आतिफ़ अहमद के टॉपर बनने की जैसे ही खबर मिली रिश्तेदारों ने एक दूसरे में लड्डू बांट कर खुशी मनाई।

98%फीसद अंक हासिल करने वाले होनहार आतिफ़ अहमद की काबलियत लाजवाब है। उनका कहना है कि जिंदगी में मुश्किल हालात सिर्फ इंसान को तोड़ते नहीं कई बार यह आगे बढ़ने में किसी टाॅनिक की तरह काम भी करता है। कड़े इरादे और सपनों को सच करने की जिद मंजिल पाने के लिए काफी है।

आतिफ़ अहमद अपने नाना  अबुल हसन वार्ड नंबर 26 जे.पी नगर सुपौल मैं रह कर अपनी पढ़ाई जारी रखे हुआ है और वह अब तक अपने स्कूल का टॉपर रहा है। आतिफ़ आमद ने इंग्लिश में 99, हिंदी में 99, मैथमेटिक्स 98, साइंस में 97, सोसल साइंस में 96 नंबर हासिल क्या है।

आतिफ़ अहमद ने बताया कि परिवार में तीन भाई बहन हैं। गौरतलब है कि छात्र आतिफ़ अहमद एक मध्यम वर्ग परिवार से आते हैं। इनके पिता जम्मू यूनिवर्सिटी के कॉलेज के प्रिंसिपल हैं। मां शाइस्ता हसन एक टीचर हैं छात्रा आतिफ़ अहमद अपने नाना अबुल हसन के बहुत ही दुलारे हैं।  उन्होंने आतिफ़ अहमद को बुलंद मुकाम तक पहुंचाने के लिए उनकी हर ख्वाहिश को पूरी करते रहते हैं। आज वह फूले नहीं समा रहे हैं। जब उन्हें यह पता चला कि उनका नाती आतिफ़ सुपौल ही नहीं बल के सहरसा जिला के भी टॉपर हैं।

IAS बनकर पिता के सपनों को करूंगा पूरा: बिहार में पांचवें पोजीशन हासिल करने वाले सहरसा जिला के नवहटटा प्रखंड के  अधीन पड़ते गांव  मझहौल के रहने वाले आतीफ अहमद ने अपनी सफलता का श्रेय अपने नाना  अबुल हसन (जो के रेलवे इंटर कॉलेज बरौनी में लेक्चरार थे) को दिया है। उन्होंने आगे की पढ़ाई जारी रखते हुए आई.ए.एस ऑफिसर बनने की इच्छा जाहिर करते हुए कहा मैं IAS बनकर नाना  और पिता के सपनों को करूंगा पूरा।

बेटे की इस उपलब्धि पर पिता डॉक्टर शमशाद अहमद ने खुशी जाहिर की। इस मुकाम तक अपने पुत्र के पहुंचने पर पिता डॉ. शमशाद अहमद ने कहा कि दिल्ली पब्लिक स्कूल सुपौल के स्कूल प्रबंधन एवं वहां के शिक्षक शिक्षिकाओं का योगदान सराहनीय रहा है, जिन्होंने आतिफ़ अहमद  को अच्छी शिक्षा प्रदान कर इस मुकाम तक पहुंचाया है।

सुपौल और सहरसा में टॉपर बनने और बिहार में 5 वां  रैंक लाने पर नाना अबुल हसन ने आज मुंह मीठा कराकर उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

Check Also

नई शिक्षा नीति : संस्थान में सरकार का हस्तक्षेप ज्यादा होगा और डिग्री का महत्व कम-राठौर

🔊 Listen to this मधेपुरा/बिहार : मानव संसाधन विकास विभाग द्वारा लाई गई बहुप्रतीक्षित नई …