अंधभक्ति में लीन कर मंडल कमीशन से कैसे अलग रखा गया ओबीसी समाज को?...

0
  1977 में जनता पार्टी की सरकार बनी, जिसमें मोरारजी देसाई कट्टर मनुवादी थे, जिनको लोकनायक जयप्रकाश नारायण द्वारा प्रधानमंत्री पद के लिऐ नामांकित...

इस्लामी वर्ष का पहला महीना मुहर्रम: इतिहास के झरोखे से 

0
      मुहर्रम इस्लामी वर्ष (हिजरी साल)का पहला महीना है। इस माह को उत्कृष्ट स्थान प्राप्त है। मुहर्रम की दसवीं तारीख को यौम-ए-आशुरह...

धर्मनिरपेक्षता पर ख़रोंच

0
           सबेरा तब ही होता हैं जब सूर्योदय होता हैं, उसके लिए आंख भी खोलनी पड़ती हैं। महात्मा गाँधी ने 20...

विपदा के इस दौर में चुनाव की शहनाई बेमानी

0
            एक ओर कोरोना के चलते बिहार में त्राहिमाम की स्थिति है। सरकारी अस्पतालों की हालत भी कुछ अच्छी...

विदेशी नीतियाँ से निपटने की पराधीन भारत (1947 के पूर्व) के समय की नीतियाँ

0
सोमवार रात (15 - 16 जून) गलवान घाटी, लद्दाख (भारत) के सैनिकों पर अक्साई, चीन के सैनिकों के द्वारा हमला हुआ। हालांकि भारत और...

मां अगर घर की धुरी है तो पिता समग्र चक्र

0
    पिता शब्द जेहन में आते ही तस्वीर बनने लगती है एक ऐसे फ़रिश्ते की जिसके हांथ की लकीर बिगड़ जाती है अपनी...

विश्व पर्यावरण दिवस और इस्लाम में पर्यावरण संरक्षण का महत्व

0
               पर्यावरण के प्रति जागरुकता फैलाने और पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष 5...

बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह की कलम से

0
निन्दा - चुगली में लिप्त कुछ दिखता इंसान :         आज दुनिया के बाज़ार में कुछ चुग़लों के कारण मुस्कराते इंसान की जब जेब टटोलेंगे...

बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह की कलम से

0
    “मन की चंचलता”    जीवन का सबसे कठिन दौर वह नहीं होता है, जब कोई आपको समझता नहीं है, बल्कि वह होता है...

जन्म दिवस विशेष :- जानिए ज्ञान विज्ञान की कई विधाओं के जनक “इब्नख़ाल्दून” जैसे...

0
       क्या आप किसी ऐसे महान व्यक्तित्व को जानते हैं जो एक साथ ज्ञान विज्ञान की कई विधाओं का न सिर्फ ज्ञाता...

Latest News