मधेपुरा : कथित राष्ट्रवादी संगठन द्वारा पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या का छात्र राजद ने की निंदा

728x90
Spread the news

अमित कुमार
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : मंगलवार को छात्र राष्ट्रीय जनता दल मधेपुरा इकाई द्वारा बुलंदशहर उत्तर प्रदेश में हुए हिंसक भीड़ के द्वारा पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या तथा कथित राष्ट्रवादी संगठन द्वारा करने के विरोध में छात्र राजद द्वारा कड़ी शब्दों में निंदा करते हुए जिला मुख्यालय के कॉलेज चौक पर पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने कैंडल जलाकर भावभीनी श्रद्धांजलि दिया।

 मौके पर उपस्थित छात्र राजद के वरिष्ठ कार्यकर्ता इशा असलम एवं पूर्व प्रदेश महासचिव जापानी यादव ने कहा कि जिस तरह उत्तर प्रदेश में भीड़ के द्वारा जांबाज़ पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या भीड़ तंत्र के द्वारा किया गया है। इससे ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र नहीं बल्कि भीड़ तंत्र के द्वारा किया गया है। इससे ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र नहीं बल्कि भीड़ तंत्र की सामंतवादी सरकार चल रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को आगाह करना चाहता हूं कि आप अपने भीड़ तंत्र को वक्त रहते संभाले या अपने पल्लू में छुपा कर रख ले नहीं तो आप यह भी भली-भांति जानते हैं कि जनता किसी की जागीर नहीं होती है।

इस अवसर पर छात्र राजद के काउंसिल मेंबर माधव कुमार, ऋषिकेश कुमार, निशांत यादव ने कहा कि बीजेपी की सरकार जिस प्रदेश में होती है। उस प्रदेश में भीड़ तंत्र को खुली छूट दी जाती है। भीड़ तंत्र तथा उत्तर प्रदेश सरकार इतने निरंकुश हो गए हैं। वह आम जनता के साथ साथ अब पुलिस प्रशासन को भी अपना निशाना बनाने से नहीं डरते हैं। उन्होंने कहा कि पूरे देश में हर तरफ महंगाई, भ्रष्टाचार, लूट, हत्या, बलात्कार जैसे संगीन मामलों में उत्तरप्रदेश पूरे देश में एक नंबर पर है। अब जब उत्तर प्रदेश बिहार में अपराधियों द्वारा खुलेआम पुलिस प्रशासन की हत्या कर दी जा रही है, तो सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में आम नागरिक कितने भय में अपना जीवन यापन कर रहे होंगे।

 वहीं नीतीश यदुवंशी, अमरेश कुमार, आकाश यदुवंशी, भावेश कुमार एवं अंकेश राणा ने कहा कि जिस तरह देश की सुरक्षा में आतंकवादियों से सेना लड़ते हुए शहीद हो रहे हैं, ठीक उसी प्रकार आज उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में भीड़ तंत्र द्वारा एक जांबाज पुलिस इंस्पेक्टर की हत्या कर दिया गया। भीड़ तंत्र खुद को अपने हाथ में कानून ले लिया है। उन्होंने राष्ट्रपति से उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की।

इस अवसर पर प्रवीण यादव, ज्योतिष कुमार, कृष्ण कुमार यादव, गौरव कुमार उर्फ लालू, अक्षय कुमार, मो आलम, मुन्ना जी, रोशन कुमार, राहुल कुमार, विकास कुमार, संतोष कुमार तथा सैकड़ों राजद कार्यकर्ता मौजूद थे।


Spread the news