दरभंगा : अशोक पेपर मिल चालू करने के सवाल पर सड़क से लेकर सदन तक माले ने उठाया आवाज, विधायक और सांसद चुप्पी तोड़े

728x90
Spread the news

ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा

दरभंगा/बिहार : अशोक पेपर मिल चालू करने, धर्मगोद्धा को गिरफ्तार करने, अशोक पेपर मिल के नाम पर लिए गए लोन को उजागर करने, अशोक पेपर मिल पर श्वेतपत्र जारी करने शुशील साह के परिजन को मुआवजा देने सहित अन्य मांग को लेकर भाकपा(माले) हायाघाट प्रखंड कमिटी के द्वारा आज दरभंगा डीएम के समक्ष आक्रोशपूर्ण धरना-प्रदर्शन किया गया। धरना का नेतृत्व खेग्रामस जिला अध्यक्ष जंगी यादव, प्रखंड सचिव विश्ववनाथ पासवान तथा अध्यक्षता अशोक पेपर मिल संघर्ष समिति के अध्यक्ष संतोष यादव कर रहे थे।

धरना को संबोधित करते हुए भाकपा(माले) जिला सचिव बैद्यनाथ यादव ने कहा कि आज एक तरफ सड़क पर अशोक पेपर मिल को चालू करने को लेकर आंदोलन चल रहा है वही दूसरी तरफ माले विधायक विधान सभा मे मांग को रख रहे है। सड़क से लेकर सदन तक आवाज उठा रही है। उन्होंने कहा कि नीतीश मोदी की सरकार को अशोक पेपर मिल पर श्वेतपत्र जारी करना चाहिए। वही भाकपा (माले) के वरिष्ठ नेता आर के सहनी ने कहा कि नीतीश सरकार अशोक पेपर मिल को धर्मगोद्धा के हाथों गिरवी रख दिया है। आज तक सरकार धर्मगोद्धा के द्वारा लिए गए लोन को उजागर नही किया है।

उन्होंने मांग किया कि पेपर मिल के नाम पर लिए गए लोन को उजागर किया जाय। वही खेग्रामस जिला अध्यक्ष जंगी यादव ने कहा कि अशोक पेपर मिल कई वर्षों से बंद है। लेकिन स्थानीय सांसद-विधायक इस मुद्दे पर चूप्पी तोड़ने को तैयार नही है। उन्होंने कहा कि लगभग 6 वर्ष से अधिक शुशील साह की मृत्यु की हो गई। लेकिन आज तक उनके परिजन को मुआवजा नही दिया गया। उन्होंने कहा कि अगर प्रशासन व सरकार पेपर मिल पर त्वरित फैसला नही लेती है तो आगे और उग्र आंदोलन किया जाएगा। वही भाकपा(माले) राज्य कमिटी सदस्य अभिषेक कुमार ने कहा कि मिथिलांचल में बन्द परे उधोग के प्रति सरकार लापरवाह है। चीनी मिल से लेकर पेपर मिल तक कई वर्षों से बंद है। जिसके खिलाफ आंदोलन और तेज़ किया जाएगा।

धरना को भाकपा(माले) जिला कमिटी सदस्य सत्यनारायण मुखिया, सदीक भारती, नंद लाल ठाकुर, भूषण मंडल, उपेंद्र बैठा, फूलो देवी, निराला दास, राम विलाश पासवान, महावीर पासवान, नगीना देवी, ओम प्रकाश, राज कुमार मंडल, मोहन ठाकुर, प्रो कामेश्वर पासवान, अमेरिका देवी, सुमिंत्रा देवी सहित दर्जनों लोग शामिल थी। धरना के बाद मुख्यमंत्री के नाम मांग पत्र दरभंगा जिलाधिकारी को सौपा गया।


Spread the news