सहरसा : शराबबंदी से लाखों घरों में खुशहाली आई -मुख्यमंत्री

728x90
Spread the news

राजा कुमार की रिपोर्ट

सहरसा/बिहार : बुधवार को सहरसा पटेल मैदान में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अति पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में लोगों को सरकार की उपलब्धि के बारे में जानकारी दिया। मुख्यमंत्री अपने निर्धारित समय से लगभग दो घंटे विलंब से मंच पर पहुँचे। हालांकि वहां पूर्व से जदयू के सहरसा, सुपौल एवं मधेपुरा के विधायक, एमएलसी, विभिन्न प्रकोष्ट के प्रतिनिधि ने सरकार की उपलब्धि लोगों को गिनाई।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि सभा में महिलाओं के प्रति भावना व्यक्त करते हुए कहा कि जितने लोग यहां आए है उन सभी का में अभिनंदन करता हूँ। उन्होंने कहा वर्ष 2007 में कहा था कि न्याय के साथ विकास करूगां और सभी तबके के लोगों का विकास होन चाहिए इसके लिए लगा हुआ हूँ। आरक्षण को लेकर नीतीश कुमार ने कहा जब सरकार बनी उस समय आरक्षण नही था लेकिन आरक्षण आज पिछड़ा, अति पिछड़ा, दलित, महा दलित सभी वर्गों के लोगों को मिल रहा है, यही नही ज्यूडिशियल में भी अब आरक्षण लागू कर दिया गया है। बच्चे की पढ़ाई में कोई दिक्कत नही हो इसके लिए यह व्यवस्था की है कि बच्चे जैसे-जैसे आगे बढेगें सरकार वैसे वैसे उनको प्रोत्साहन देगी।

सात निश्चय को लेकर भी उन्होंने कहा कि ऊर्जा मंत्री के नेतृत्व में अब बिहार के हर कोने में बिजली पहुँच गयी है वो भी समय सीमा से पहले। पहले जब एसएचजी का गठन होता था तब लूट होती थी लेकिन आज जीविका के माध्यम से पूरे बिहार में आठ लाख से अधिक लोग इस ग्रुप से जुड़ चुके है और इसका लाभ ले रहे है। उन्होंने कहा कि अब गाँव की महिलाएं जितना बैंक के बारे में जानती है उतना शायद ही कोई पुरुष इस के बारे में जानता है। उन्होंने जिक्र करते हुए कहा कि मैं भी कभी एमपी था तब लोगों को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता था, लेकिन अब हर गली तक पक्की सड़क का निर्माण हो गया है। मुख्यमंत्री परिवहन योजना के तहत पिछड़ा एवं अनुसूचित जातियों के लोगों को ग्रामीण इलाके में गाड़ी खरीदने के लिए सरकार ऋण दे रही है, जिसके तहत वाहन खरीदने वाले को एक लाख तक छूट मिलेगी और लोग गाँव से शहर आसानी से आ सकेगें।

शराबबंदी से लाखों घरों में खुशहाली

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि शराब बंदी से लाखों घरों में खुशहाली आई है। पहले जब शराब बिकता था तो हर दिन महिलाएं को कुछ ने कुछ परेशानी झेलनी पड़ती थी। लेकिन जब से यह बंदी हुआ शराब पीने वाले अब घर में सब्जी खरीद कर लाया रहे है।

वहीँ दूसरी तरफ मुख्यमंत्री के भाषण शुरू होते ही भीड़ में शामिल लोगों ने एम्स एवं एसटीइटी की नियुक्ति को लेकर काला झंडा लहराया। जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा हल्ला करने वाले को कुछ मिलने वाला नही है, शांत से मिले तो कुछ समाधान जरूर होगा।

नीतीश कुमार के साथ बिहार सरकार के ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव, आपदा मंत्री दिनेश चंद्र यादव, सहित कोशी प्रमंडल के सभी विधायक, मंत्री, एवं सभी प्रकोष्ट की जनप्रतिनिधि मौजूद थे।


Spread the news