मधेपुरा : चौसा में धड़ल्ले से बिक रहा है मौत का सौदागर सनफिक्स, सुंघ – सुंघकर मौत के करीब हो रहे हैं बच्चे – प्रशासन बेखबर

728x90
Spread the news

यहिया सिद्दीकी
संपादक

मधेपुरा /बिहार : प्रखंड में धड़ल्ले से बिक रहा है मौत का सौदागर सनफिक्स । इसकी जद में छोटी उम्र तकरीबन 60 प्रतिशत बच्चे आ चुके हैं। बावजूद इसके प्रशासन बेखबर है।
ज्ञातव्य है कि चमडा, रबर, टूटे खिलौने, इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण, रेक्सिन, लकड़ी तथा कांच इत्यादि चिपकाने के लिए बाज़ार में sunfix नामक solution उत्पाद उपलब्ध है । बताया जाता है कि इसके 10 ml के एक ट्यूब की कीमत 12 रूपए है। कहने को तो इसका उपयोग चिपकाने के लिए होता लेकिन हकीकत यह है कि आज की तारीख में यह नशा का सबसे बड़ा डाॅज बना हुआ है।
सनद रहे कि इसके ट्यूब से solution को पालीथिन में डाल दिया जाता है ।फिर उस पालीथिन में नाक घुसाकर सूंघा जाता है । इससे सूंघने वाले को जबरदस्त नशा चढ़ता है । यूं शुरुआत में इस प्रकार के नशे का लत एक -आध लोगों को ही था , लेकिन आज की तारीख में इसकी जद में समाज के तकरीबन 60 प्रतिशत से अधिक बच्चे आ चुके हैं। धीरे धीरे ऐसे नशेडियों की संख्या बढ्ती ही जा रही। इसकी चपेट में 8 वर्ष के बच्चे से लेकर 25 वर्ष के युवा तक आ चुके हैं। लेकिन इसकी लत नाबालिग बच्चों को ज्यादा है। पहले sunfix का ट्यूब चंद दुकानों में ही बिकता था । अब तो इसकी भारी डिमांड को देखते हुए बाज़ार के तमाम मनिहारा ,किराना ,इलेक्ट्रॉनिक्स और जनरल स्टोर की दुकानों में sunfix धड़ल्ले से बेचा जा रहा है । मामले का दुखद पहलू तो यह है कि दुकानदार भी चंद सिक्कों के लिए छोटे छोटे बच्चों के हाथ sunfix बेचने से गुरेज नहीं करते । स्थिति इस कदर खतरनाक हो चली है कि समाज में अवस्थित विद्यालय, विभिन्न कार्यालय के सुनसान पडे़ परिसरों और बाग-बगीचे आदि पर बच्चे sunfix सूंघने के लिए कब्जा जमाए रहते हैं। इन परिसरों में भारी मात्रा में sunfix के रैपर , खाली ट्यूब और ढक्कन बिखरे पड़े मिल जाते हैं।

गौरतलब है कि तंबाकू उत्पाद की ही तरह sunfix solutions के पैकिंग रैपर पर चेतावनी लिखा होता है । चेतावनी में स्पष्ट लिखा होता है – ” Harmful if swallowed or inhailed . Keep out of reach of children .company shall not be responsible for any kind of misuse.” इतनी स्पष्ट चेतावनी और दुरूपयोग से बचने की सलाह के बावजूद दुकानदारों द्वारा धड़ल्ले से नासमझ बच्चों के हाथ sunfix बेच रहे हैं । जो बच्चे इस नशे के आदि हो चुके हैं वे धीरे-धीरे पीले पड़ते जा रहे हैं । जानकार बताते हैं कि sunfix लगातार सूंघने के कारण इसमें मौजूद खतरनाक रासायनिक पदार्थ फेफड़े पर बहुत ही बुरा असर पड़ता है ।
यूं sunfix बेचने या खरीदने पर तो कोई कानूनी प्रतिबंध नहीं है, लेकिन यहां सवाल इसके दुरूपयोग और भावी पीढ़ी के स्वास्थ्य से जुड़ा है । इस बाबत प्रशासनिक पहल की महती आवश्यकता है । लोगों ने स्थानीय प्रशासन से दुकानदारों के साथ बैठक कर sunfix की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग किया है ।


Spread the news