मानव निर्मित कारणों से पर्यावरण हो रहा है दूषित : प्रधानाध्यापिका

728x90
Spread the news

चौसा/मधेपुरा/बिहार : मानव जीवन का मूलाधार पर्यावरण है। मानव निर्मित कारणों से पर्यावरण लगातार दूषित हो रहा है जिससे ग्लोबल वार्मिंग तेजी से बढ़ रहा। इस समस्या से निपटने के लिए हमें अपने जीवनकाल में कम से एक पेड़ तैयार करना होगा।

     उक्त बातें प्रखंड मुख्यालय स्थित महादेव लाल मध्य विद्यालय, चौसा की प्रभारी प्रधानाध्यापिका मंजू कुमारी ने कही । वे आज रविवार को अनुमंडल पदाधिकारी, उदाकिशुनगंज के आदेशानुसार विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर विद्यालय में आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण को रोका नहीं गया तो पृथ्वी पर जीवन संकट पैदा हो जाएगा।

       कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वरीय शिक्षक यहिया सिद्दीकी ने कहा कि विकास के साथ-साथ विनास की प्रक्रिया भी चलती रहती है। लिहाजा हमें पर्यावरण व पारिस्थितिकीय संतुलन के अधिकाधिक वृक्ष लगाना होगा। सत्यप्रकाश भारती ने कहा कि वर्ष 1973 से संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस मनाने की शुरुआत हुई थी लेकिन अब तक लक्ष्य हासिल नहीं हो सका है।

   मौके पर शिक्षक भालचंद्र मंडल, शिक्षिका रीणा कुमारी, जनक ऋषिदेव, कला देवी, अरूणा देवी, पूनम देवी, अमजद आलम, साहिल आलम, शाहनवाज के अलावा अन्य व्यक्तिगण उपस्थित थे।

आरिफ आलम
वरीय संवाददाता,
चौसा, मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें