उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र के 13 प्रतिभागियों ने दारोगा परीक्षा में मारी बाजी

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : जिले के उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र के दर्जन भर प्रतिभागियों ने इस बार दारोगा की परीक्षा पास की है। सोमवार को आए परिणाम के बाद प्रतिभागियों में खुशी है। इलाके के लोगों ने सफल प्रतिभागियों को बधाई  दी है। इस परीक्षा में बिहार सिविल सर्विसेज फाउंडेशन के उदाकिशुनगंज सहित संचालित कुल आठ केंद्रों के अध्यनरत छात्रों ने बिहार दारोगा की प्रारंभिक परीक्षा में सफलता हासिल की है।

संस्थान के संस्थापक सह उदाकिशुनगंज के पूर्व भूमि सुधार उपसमाहर्ता वर्तमान पुपरी (सीतामढ़ी)  ललित कुमार सिंह ने सफल छात्रों को अपनी शुभकामनाएं दीं हैं । उन्होंने सफल प्रतिभागियों से आगे की परीक्षा की तैयारी में जुट जाने को कहा है। बताते चले कि मधेपुरा जिला के उदाकिशुनगंज अनुमंडल के तत्कालीन भूमि सुधार उपसमाहर्ता ललित कुमार सिंह के द्वारा दो सितंबर 2018 को निर्धन व असहाय छात्रों के लिए फाउंडेशन के केंद्र की स्थापना की गई थी। वह स्वयं भी क्लास लेते थे और नोट्स भी उपलब्ध कराते थें। तबादले के बाद संस्थान का संचालन मुख्यालय स्थित नेशनल डीएवी पब्लिक स्कूल में किया गया। स्कूल के डायरेक्टर सजनदेव कुमार की देखरेख में नवल गुप्ता एवं मो निजामुद्दीन के द्वारा प्रत्येक रविवार को जांच परीक्षा एवं शिक्षण कार्य कर शुरू किया गया। जिले के विभिन्न गांवों के छात्रों को इसका फायदा मिल रहा है। विगत पूर्व के वर्ष में इस संस्थान के कई प्रतियोगिता परीक्षाओं में यहां के छात्रों ने सफलता प्राप्त की है। यह संस्थान मुख्य रूप से सिविल सेवा की तैयारी एवं मार्गदर्शन करता है। इस बार सफल छात्रों में कई सरकारी व गैर सरकारी संस्थान से जुड़े प्रतिभागी शामिल है।

सफलता पाने वाले प्रतिभागियों में निवास कुमार (शिक्षक) औराय पुरैनी, अमृता प्रीतम उदाकिशुनगंज, आशीष नारायण (पुलिस), राजू कुमार (पुलिस), सर्वेश कुमार (पुलिस), प्रशान्त कुमार – उदाकिशुनगंज, सुल्ताना प्रवीण रहटा, खुशबु प्रवीण रहटा, सोनू राजा, बिषपट्टी, राहुल कुमार बिषपट्टी, चिन्टु कुमार बिषपट्टी, रविरंजन कुमार झलाडी, प्रवीण कुमार झलाडी का नाम शामिल है।  

दारोगा परीक्षा के सफल प्रतिभागियों को उदाकिशुनगंज बीडीओ प्रभात केसरी, एसडीओ राजीव रंजन कुमार सिन्हा, डीसीएलआर कुन्दन कुमार, बीईओ निर्मला कुमारी सहित शिक्षक और जनप्रतिनिधियों ने बधाई दी हैं।

कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक