खाद्य की किल्लत एवं कालाबाजारी के खिलाफ महागठबंधन का आंदोलन 19 जनवरी को  

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : जिले समेत बिहार में खाद्य की किल्लत एवं कालाबाजारी के खिलाफ महागठबंधन चरणबद्ध आंदोलन करेगी. इस आशय की घोषणा शनिवार को जिला मुख्यालय स्थित राजद कार्यालय में महागठबंधन द्वारा आयोजित पर प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए सदर राजद विधायक सह बिहार सरकार के पूर्व मंत्री प्रो चंद्रशेखर ने दी. पूर्व मंत्री सह विधायक प्रो चंद्रशेखर ने कहा कि कहा कि खाद की किल्लत एवं कालाबाजारी से किसानों में हाहाकार मचा हुआ है और सरकार चैन की बंसी बजा रही है. उन्होंने कहा कि बाजार में यूरिया एवं डीएपी खाद की किल्लत एवं कालाबाजारी से जूझ रहे किसानों को अपने खेत की बुवाई एवं पटाई के बाद, खाद देने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. केंद्र सरकार, बिहार के हिस्से की खाद को काटकर उत्तर प्रदेश, पंजाब एवं अन्य राज्यों में जहां चुनाव होने वाली है, वहां दे रही है. यह बिहार के साथ सौतेला पन एवं नाइंसाफी है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है.

19 जनवरी को जिला कृषि पदाधिकारी के समक्ष दिया जायेगा विशाल धरना : प्रो चंद्रशेखर ने कहा कि खाद एवं बीज तथा डीजल की महंगाई से किसानों को खेती में लागत बढ़ गई है. वहीं दूसरी ओर समर्थन मूल्य पर धान की अधिप्राप्ति नहीं हो पा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2022 तक किसानों की आमदनी दिगुनी करने की घोषणा छलावा साबित हुई है. सरकार की किसान विरोधी नीति के कारण देश में प्रतिवर्ष 12 हजार किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं. उन्होंने कहा कि तीन काला कृषि कानून के विरोध में चले किसान आंदोलन में सात सौ से ज्यादा किसानों की शहादत के बाद मोदी सरकार कृषि कानून को वापस लेने को मजबूर हुई. एक बार फिर बड़े किसान आंदोलन की आवश्यकता महसूस हो पड़ी है. उन्होंने एमएसपी को लागू करने एवं पुनः मंडी को बहाल करने की मांग करते हुए कहा की महागठबंधन खाद की किल्लत एवं कालाबाजारी के खिलाफ चरण वद्ध आंदोलन चलायेगी एवं इसके प्रथम चरण में 19 जनवरी को जिला कृषि पदाधिकारी के समक्ष विशाल धरना दिया जायेगा. समस्या का समाधान नहीं हुआ तो संघर्ष को तीव्र एवं उग्र किया जायेगा.

खाद के लिए किसान परेशान, सरकार को नहीं है इसकी कोई चिंता : महागठबंधन के जिला संयोजक सह भाकपा के राष्ट्रीय परिषद सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार किसान विरोधी एवं कारपोरेट पक्षी है. इन्हें किसानों की सुधि लेने को फुर्सत नहीं है. भाकपा माले के जिला संयोजक रामचंद्र दास एवं माकपा नेता श्यामनंद गिरि ने कहा कि संपूर्ण बिहार में खाद के लिए किसान परेशान है, लेकिन लेकिन संवेदनहीन सरकार को इसकी कोई चिंता नहीं है. कांग्रेस जिला महासचिव शशि भूषण मंडल एवं भाकपा के जिला मंत्री विद्याधर मुखिया ने कहा कि किसानों की अनदेखी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. यह देश किसानों की है और जो सरकार किसानों की अनदेखी करेगी उसकी विदाई तय है. राजद प्रखंड अध्यक्ष सुरेश कुमार यादव एवं युवा नेता पंकज कुमार ने कहा कि किसान हमारे भगवान हैं और यह सरकार किसानों के साथ शैतानी हरकत कर रही है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है.

 मौके पर राजद किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव अमेश यादव, युवा राजद नेता अरुण कुमार, जिला प्रवक्ता संजीव कुमार, घैलाढ़ राजद के प्रखंड अध्यक्ष विकास मंडल मुखिया, राजद नेता नेपोलियन कुमार, बिट्टू कुमार मौजूद थे.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें