लाभुकों ने डीलर के खिलाफ़ जमकर किया हंगामा

728x90
Spread the news

छातापुर/सुपौल/बिहार : छातापुर प्रखंड क्षेत्र के जीवछपुर पंचायत स्थित वार्ड नंबर 3 में पिछले दो महीने से राशन नहीं मिलने पर कार्डधारी लाभुकों ने डीलर के खिलाफ़ जमकर हंगामा किया। ग्रामीणों ने संबंधित डीलर पर मनमानी और राशन नहीं देने का आरोप लगाया है। वहीं राशन मांगने पर डीलर के द्वारा लाभुकों के साथ अभद्र व्यवहार करने का भी आरोप लगाया है।

हालांकि संबंधित मामले को लेकर राशन से वंचित ग्रामीणों ने मामले को लेकर डीएम, त्रिवेणीगंज एसडीएम, जिला आपूर्ति पदाधिकारी समेत पटना प्रधान सचिव खाद्य उपभोक्ता संरक्षण विभाग को आवेदन देकर कार्रवाई की मांग किया है। इधर, ग्रामीण मसोमात सुशीला देवी, काला देवी, रूपनी देवी, मीणा देवी, ललिता देवी, मसोमात सोमनी देवी, चांदनी देवी, संजन देवी, मसोमात शोभा, मंजू देवी, विमला देवी, सीता देवी, मूलो देवी, बेचन कामेत, उपेंद्र कामेत, सत्य नारायण कामेत, अनमोल मंडल, पुष्पेंद्र कुमार मेहता, शिवनारायण यादव, राजेन्द्र विश्वास, रामानंद यादव, दुर्गी विश्वास आदि ने बताया कि डीलर वैभव कुमार सिंह उर्फ मनोज कुमार वार्ड 03 और 05 में लिखित रूप से अपना राशन वितरण कर सकते हैं। लेकिन डीलर अपनी मनमानी के कारण वार्ड 02 के लोगों के बीच वितरण कर दिया है। जिसके कारण वार्ड 03 के कार्डधारी लाभुक राशन से वंचित हो गए हैं ।

ग्रामीणों का कहना है कि डीलर ये वितरण रात के अंधेरे में करते हैं, जिससे किसी को पता नहीं चल सके। वहीं जब हमलोग अपना राशन मांगने गए तो डीलर ने मनमानी करते हुए वार्ड 02 के लाभुकों का फिंगर लेकर अनान-फानन में राशन दे दिया, लेकिन वार्ड 03 के लाभुकों को अनाज देने से मना कर दिया और लाभुकों को ये बोलकर टाल दिया कि मेरा यूनिट खत्म हो गया है, दूसरे डीलर से अपना राशन ले लीजिए। 

आवेदन देने के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई : ग्रामीणों का कहना है कि डीलर की मनमानी को लेकर संबंधित विभाग को आवेदन दिया गया है लेकिन विभाग की ओर से डीलर पर अभी तक किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं हुई है। जिसके कारण डीलर की मनमानी चरम पर है। ग्रामीणों का कहना है कि डीलर के द्वारा लाभुकों को राशन वजन के अनुसार नहीं दिया जाता है , प्रति व्यक्ति आधा किलो से लेकर 1 किलो तक राशन कम तौल कर दिया जाता है । यही नहीं, बीते दिनों डीलर ने वार्ड 03 के शर्मा टोला में कुछ लोगों से अवैध तरीके से एक सादे कागज पर हस्ताक्षर करवा लिए हैं। लेकिन ग्रामीणों द्वारा पूछने पर कुछ भी बताने से मना कर दिया। जबकि राशन देने के बाद डीलर द्वारा मशीन से निकले पर्ची भी नहीं दिया जाता है, मांगने पर देने से मना कर देते हैं।

वहीं इस सन्दर्भ में डीलर वैभव कुमार सिंह से पूछने पर उन्होंने बताया कि राशन सभी को दिया जा रहा है। ग्रामीणों के द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार है।
इधर, मामले को लेकर छातापुर एमओ संतोष कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जाएगी, जांच के उपरांत दोषी पाए जाने पर संबंधित डीलर पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं मामले को लेकर त्रिवेणीगंज एसडीएम एस जेड हसन ने कहा कि मामले की जानकारी नहीं है। स्थानीय एमओ से मामले की जांच कर कारवाई की जाएगी।

रियाज खान
संवाददाता
छातापूर/सुपौल


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें