मधेपुरा में मतगणना के दौरान पुलिस और पब्लिक में झड़प

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : शुक्रवार को मतगणना के दौरान जिला मुख्यालय स्थित मतगणना केंद्र ठाकुर प्रसाद महाविद्यालय के आगे लगातार लोगों की भीड़ जुटी रही. अधिकारियों के द्वारा लगातार ध्वनि विस्तारक यंत्र से लोगों को मतगणना केंद्र के आगे से जगह खाली करके आसपास के मैदान में जाकर बैठने का निर्देश दिया जा रहा था, लेकिन लोग अपने प्रत्याशियों की परिणाम जानने की इच्छा में वहां से हटने को तैयार नहीं थे.

मतगणना केंद्र के मुख्य द्वार से लेकर केंद्र के समीप पेट्रोल पंप एवं आसपास के सभी खाली जगहों पर मतगणना कर्मी प्रत्याशी एवं समर्थकों का वाहन लगा दिया गया था. जिसके कारण सड़कें पूरी तरह से जाम हो चुकी थी. आवागमन पूरी तरह से बाधित हो चुकी थी. उसके बाद मुख्य द्वार के सामने जुटी लोगों की भीड़ के कारण मतगणना कर्मियों, प्रत्याशियों एवं मतगणना से संबंधित लोगों को केंद्र के अंदर-बाहर आने-जाने में भी परेशानी हो रही थी. जिसके बाद भीड़ को खाली कराने को लेकर पुलिस बल के द्वारा जमकर लाठियां चटकाई गई. जिसके कारण केंद्र के समीप भगदड़ का माहौल हो गया और कई लोग वाहनों से टकराकर, वाहनों में पैर अटकने एवं आसपास के गड्ढे में गिरने से चोटिल हो गये. हालांकि कोई बड़ी घटना नहीं हुई.

इस भगदड़ में कई प्रत्याशी को भी पुलिस की लाठी खानी पड़ी. जिसके कारण प्रत्याशी एवं उनके समर्थक क्रोधित हो गए और पुलिस कर्मियों से उलझ गये. मामला धीरे-धीरे बढ़ने लगा और स्थिति सामान्य से असामान्य की ओर जाने लगी. वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों एवं पुलिस बलों के द्वारा लगातार लोगों को समझाने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं थे. मौजूद प्रत्याशियों एवं समर्थकों का कहना था कि उनके पंचायत की मतगणना शुरू करने को लेकर जिला प्रशासन के द्वारा ध्वनि विस्तारक यंत्र से उन्हें मुख्य द्वार पर बुलाया गया था. वे लोग मतगणना केंद्र में प्रवेश के लिए वहां खड़े थे, इतने में पुलिस बलों के द्वारा बेवजह उन लोगों को बेरहमी से पीटा गया.

इस बीच वहां उपस्थित लोगों ने पेड़ की टहनी तोड़कर पुलिस बलों पर फेंकना शुरू कर दिया. जिसके बाद पुलिस ने कड़ा रुख अख्तियार किया तो लोगों के द्वारा हेलमेट एवं शराब की बोतल भी पुलिस बलों के ऊपर फेंकी गई. लगभग आधे घंटे तक चले हाईवोल्टेज ड्रामा के बाद अधिकारियों के समझाने पर लोग शांत हुये.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें