बीएनएमयू प्रशासन की मनमानी और अड़ियल रवैये के खिलाफ AISF का अर्धनग्न पदर्शन

728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : शनिवार को वाम छात्र संगठन एआईएसएफ (AISF) द्वारा बीएनएमयू (BNMU) मुख्यालय के  बीएड, एम्एड के मुद्दों व अन्य मुद्दों को लेकर जारी क्रमबद्ध आंदोलन के क्रम में अर्धनग्न जुलूस निकालकर पदाधिकारियों की मनमानी और छात्र हितों के हनन पर आक्रोश व्यक्त किया।

एआईएसएफ के राज्य परिषद् सदस्य सौरभ कुमार के नेतृत्व में आयोजित अर्द्धनग्न जुलूस में छात्रों ने डीएसडब्लयू की मनमानी नहीं चलेगी, कुलपति के के निर्देश के बाद भी कारवाई क्यों नहीं जवाब दो, गर्ल्स हॉस्टल अविलंब शुरू हो, बीएड, एम्एड में प्रोफेसर इंचार्ज और दोनों विभाग के हेड की मनमानी नहीं चलेगी की जमकर नारेबाजी की। इस दौरान बीएनएमयू के मुख्य द्वार से छात्रों ने संगठन के बैनर व झंडा तले आक्रोश मार्च निकाल डीएसडब्लयू, प्रोफेसर इंचार्ज, दोनों विभाग के हेड के कार्यालय के सामने जमकर नारेबाजी करते हुए मनमानी व अकर्मण्यता पर विराम लगाने की मांग की।

 इस मौके पर एआईएसएफ के बीएनएमयू प्रभारी हर्ष वर्धन सिंह राठौर ने कहा कि कुछ पदाधिकारियों की मनमानी और अकर्मण्यता के कारण बीएनएमयू की छवि को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है। लगभग एक साल तक लगातार मांग के बाद आश्वाशन के जगह जब पहल नहीं हुआ तब संगठन ने विवश होकर क्रमबद्ध आंदोलन का आगाज किया । बीएड ऑन स्पॉट एडमिशन में धांधली व रोस्टर की अनदेखी की जांच को लेकर डीएसडब्लयू के नेतृत्व में बनी जांच कमिटी छ माह में रिपोर्ट नहीं दे पाई बस टालमटोल किया जा रहा है। संगठन की मांग पर कुलपति त्वरित संज्ञान लेते हैं लेकिन पदाधिकारी पहल नहीं करके उन्हें बदनाम करने की साज़िश भी रच रहे हैं।

एआईवाईएफ (AIYF) के राष्ट्रीय परिषद् सदस्य शम्भु क्रांति ने कहा कि कुछ पदाधिकारी अपना उल्लू सीधा कर छात्र संगठन व कुलपति को आपस में उलझाने की साजिश रच रहे हैं। मुख्यालय के एम्एड  प्रथम सेमेस्टर में नामांकन व फॉर्म भराई के बाद भी अटेंडेंस रजिस्टर नहीं बनने से नामांकन में धांधली की शंका प्रबल होने लगी है। लगातार वादे के बाद भी गर्ल्स हॉस्टल शुरू नहीं हुआ वहीं दोषी पदाधिकारी की मनमानी चरम पर है। पुस्तकालय अध्यन कक्ष की जगह मात्र  बैठक का अड्डा बन कर रह गया है। नैक से मान्यता के लिए ईमानदार पहल की जरूरत है। अर्धनग्न जुलूस का नेतृत्व करते हुए सौरव कुमार ने कहा कि यह लोकतांत्रिक आंदोलन विश्वविद्यालय को यह चेतावनी है कि जल्द से जल्द अगर पहल नहीं हुई और मांग पूरी नहीं हुई तो आंदोलन और विकराल होता जाएगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी विश्वविद्यालय की होगी। यह आंदोलन लगातार सी विभिन्न रूपों में जारी रहेगा। एआईवाईएफ के जिलाध्यक्ष मुन्ना कुमार ने कहा यह आंदोलन विश्वविद्यालय में इन्कलाब लाएगा और छात्र हित में मुहिम और तेज होगी

 मौके उपस्थित रामभजन, आशुतोष, मो नाजिर, नीतीश, ज्योतिष, पवन, राहुल, गौतम, सुमित सहित अन्य ने एक स्वर में कहा कि विश्वविद्यालय की मनमानी के खिलाफ आंदोलन को और विस्तार किया जाएगा, अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित कर छात्रों को जोड़, विश्वविद्यालय की करतूत को भी जाहीर किया जाएगा।

मो० नियाज अहमद
ब्यूरो, मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें