मॉब लिंचिंग, बिहार के रौशन पेशानी पर बदनुमा दाग-अखिल भारतीय परिषद बिहार  

Photo : www.therepublicantimes.coPhoto : www.therepublicantimes.co
728x90
Spread the news

फुलवारी शरीफ/पटना (प्रेस विज्ञप्ति) : हमारा देश भारत एक लोकतांत्रिक देश है, यहां हजारों वर्षों से विभिन्न धर्मों के लोग प्रेम, शांति और सद्भाव के साथ रहते आए हैं, विशेष रूप से हमारा बिहार राज्य, पूरे देश में सांप्रदायिक सद्भाव के लिए एक अलग पहचान रखता है, लेकिन पिछले कुछ वर्षों से कुछ असामाजिक तत्व इस देश और हमारे राज्य के वातावरण में जहर घोलने की कोशिश कर रहे हैं, और काफी हद तक वे अपने नापाक प्रयासों में सफल रहे हैं, इसलिए बिहार जैसी शांतिपूर्ण और सांप्रदायिक सद्भाव वाली रियासत में भी मॉब लिंचिंग की दुखद घटनाएं पेश आने लगी है, जो ना सिर्फ बिहार के लिए बल्कि पूरे मुल्क के लिए शर्म की बात है।

इस सिलसिले में अखिल भारतीय परिषद बिहार के कार्यवाहक महासचिव, मौलाना मुहम्मद नफी आरफी ने आज एक प्रेस रिलीज जारी कर इन घटनाओं की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि समस्तीपुर और अररिया में होने वाली हत्याएं मानवता के लिए कलंक है, यह बिहार के रौशन पेशानी पर एक बदनुमा दाग है, मानव-समान भेड़िये जंगल से छूटकर, मानव आबादी पर आक्रमण कर रहे हैं, और इंसानों को अपनी दहशत का निशाना बना रहे हैं, इंसानियत के दुश्मन को जब तक सख्त सजा नहीं दी जाएगी, तब तक यह अपनी दरिंदगी से बाज नहीं आएंगे। मौलाना आरफी ने अररिया में जॉकी हैट की दुखद घटना पर अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक पुलिसकर्मी ने मारे गए इस्माइल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है, यह इंसाफ की हत्या के समान है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि दो आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

advertisement

उन्होंने सरकार से मांग की है कि समस्तीपुर जिले के आधारपुर और अररिया के जॉकी हाट में हुई मॉब लिंचिंग की घटना की जांच निष्पक्ष रूप से कर कातिलों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कत्ल का मुकदमा चला कर उन्हें जल्स से जल्द सजा दी जाए साथ ही मृतकों के आश्रितों मुआवजा दिया जाए।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें