पेट्रोलियम पदार्थों को GST के दायरे में लाए सरकार : मोहन मंडल

Photo : www.therepublicantimes.coPhoto : www.therepublicantimes.co
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : कमरतोड़ महंगाई और पेट्रोलियम प्रदार्थो के बढ़ते दाम को लेकर युवा जन अधिकार पार्टी ने विरोध प्रदर्शन किया. जन अधिकार युवा परिषद के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन के दौरान शहर में बैलगाड़ी, टमटम यात्रा निकाली. जाप जिलाध्यक्ष मोहन मंडल के नेतृत्व में जाप कार्यकर्ताओं ने जाप कार्यालय से सैकड़ों बैलगाड़ी व टमटम के साथ मार्च निकालकर बस स्टैंड, कॉलेज चौक, मुख्य बाजार सुभाष चौक, कर्पूरी ठाकुर चौक तक विरोध प्रदर्शन किया ।

बैलगाड़ी-टमटम मार्च को सम्बोधित करते हुए जन अधिकार युवा परिषद के जिलाध्यक्ष अनिल अनल ने कहा कि देश में लगातार मंहगाई आसमान छू रही है. डीजल और पेट्रोल के दाम 100 रुपया पार कर चुका है. रसोई गैस के दामों ने घर का बजट ही बिगाड़ रखा है. मोदी सरकार के सात वर्षों में 45 रुपया से ज्यादा पेट्रोल महंगा हो गया है, डीजल और पेट्रोल के दाम लगभग बराबर हैं।  डीजल के बढ़ते दामों के कारण खेती महंगी हो गई हैं।

वहीं जाप नेता अजिर बिहारी और अनिन बंधु ने कहा कि देश में मोदी सरकार की तानाशाही खुलेआम चल रही है. केंद्र सरकार जनता के हितों के साथ खिलवाड़ कर रही है। कच्चे तेल के दाम कम हो रहे  है और पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढ़ रहे हैं, जिससे महगाई बढ़ रही हैं।  इस कारण गरीबों को जीवन यापन में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा हैं। उन्होंने ने कहा कि सरकार जबतक पेट्रोलियम पदार्थों से  टैक्स को खत्म नहीं करेगी तबतक हमारा आंदोलन जारी रहेगा। जाप महिला प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष कला क्रांति और नूतन सिंह ने कहा कि सरकार पेट्रोलियम पदार्थों को जी एस टी के दायरे में लाकर इसके बढ़ते हुए दामों को नियंत्रित करें।

      जाप के जिला अध्यक्ष मोहन मंडल ने बैलगाड़ी टमटम मार्च को सम्बोधित करते हुए कहा कि महंगाई के खिलाफ हमारी पार्टी का आंदोलन जारी हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण देश के कई हिस्सों में पेट्रोल की कीमतें बीते दिन 100 रुपये प्रति लीटर का आंकड़ा पार कर चुकी हैं ।

मार्च को सम्बोधित करते हुए जाप युवा प्रवक्ता रविन्द्र यादव और गोपाल जयसवाल ने कहा कि अच्छे दिन का देखो खेल-मंहगा डीजल मंहगापेट्रोल। केंद्र की भाजपा सरकार ने रसोई गैस के मूल्य में बेतहाशा बढ़ोतरी कर दी, जिससे लोगों के रसोई का बजट बिगड़ गया है।  जन विरोधी केंद्र सरकार ने पूंजीपतियों के साथ मिलकर आम जनता को कंगाल बना दिया हैं।

मार्च में रविंद्र सिंह यादव, अबुल कलाम आजाद, अभिषेक द्रवे, सीताराम यादव, संजय यादव, विके आर्यन, कार्यालय सचिव देवाशीष पासवान, उप सचिव शैलेन्द्र कुमार, रामचंद्र यदुवंशी, सतीश यादव, छात्र नेता अमन कुमार रितेश, रौशन कुमार बिट्टू, मिथुन यादव  सुशील कुमार, अनुज कुमार, पिंटू किंग, युवा रंजन, मोहम्मद सलाम, नीतीश यादव, दीपक रस्तोगी, बुलबुल यादव, मो. कुदुस, राहुल, विवेक, मो. युसूफ, राजकुमार यादव, प्रवीण कुमार पप्पू, ओंकारनाथ श्रीवास्तव सहित सैकड़ों कार्यकर्ता बैलगाड़ी और टमटम के साथ शामिल थे।

मो० नियाज अहमद
ब्यूरो, मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें