50 हजार का इनामी, कुख्यात अपराधी नवीन मण्डल चढ़ा मधेपुरा पुलिस के हत्थे

Photo : www.therepublicantimes.coPhoto : www.therepublicantimes.co
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : मधेपुरा समेत आस-पास के कई जिलों में अपने आतंक से लोगों में दहशत फैलाने वाला 50 हजार का इनामी, कुख्यात अपराधी नवीन मण्डल को मधेपुरा पुलिस ने एसटीएफ की मदद से बिहारीगंज में मधेपुरा – पूर्णियाँ सीमा क्षेत्र से गिरफ्तार करने में सफ़तला हासिल किया है। नवीन मण्डल पर कुल 9 आपराधिक मामले दर्ज है, जिसमें दो हत्या, 6 आर्म्स एक्ट और एक डकैती के मामले दर्ज है। नवीन मण्डल की तलाश पुलिस को काफी दिनों से थी, आखिरकार पुलिस ने कल जिला के बिहारीगंज में मधेपुरा-पूर्णियाँ जिला के सीमा, ठरहा टोला से पूर्णियाँ जाने वाल सड़क से गिरफ्तार कर लिया।  

इस बात की जानकारी शनिवार को अपने कार्यालय में एक प्रेसवार्ता आयोजित कर पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने दी। एसपी ने बताया कि नवीन कुमार मण्डल उर्फ आशिक राज, (पिता-नवल किशोर मण्डल उर्फ राजीव रंजन, साकिन-सरौनीकला, थाना-बिहारीगंज, जिला-मधेपुरा) एक मोस्ट वांटेड अपराधी था, इस पर हत्या, आर्म्स एक्ट और डकैती सहित कुल 9 आपराधिक मामले, जिले के विभिन्न थानों में दर्ज है, और यह काफी दिनों से फरार था। उन्होंने  बताया कि नवीन मण्डल की गिरफ्तार पर पुलिस मुख्यालय ने 50 हजार के इनाम की घोषणा की थी, इसके अलावा मधेपुरा पुलिस द्वारा भी नवीन मण्डल की गिरफ़्तारी पर 5 हजार के इनाम का ऐलान किया गया था, एसपी ने बताया कि नवीन मण्डल की गिरफ़्तारी के लिए हम ने एक टीम का गठन किया था, जिसका नेतृत्व उदाकिशुनगंज अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी कर रहे थे, इस टीम में बिहारीगंज, उदाकिशुनगंज और ग्वालपाड़ा थाना की पुलिस के साथ साथ एसटीएफ के जवान भी शामिल थे और नवीन मण्डल की गिरफ़्तारी को लेकर पूरी टीम लगातार काम कर रही थी, आखिरकार कल नवीन मण्डल की गिरफ़्तारी अमल में लाई गई।

एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि गिरफ़्तारी के बाद पूछताछ के दौरान अपराधी नवीन मण्डल ने खुद के ऊपर दर्ज सभी कांडों में अपना गुनाह स्वीकार किया है और साथ ही अपने गैंग के अन्य सदस्यों के बारे में भी कई अहम सुराग पुलिस को दिया है, जिस पर पुलिस आगे की कारवाई में जुट चुकी है।  उन्होंने बताया कि नवीन कुमार की गिरफ़्तारी से मधेपुरा पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई और साथ ही कई सारे मामले का खुलासा भी हुआ है।

मो० नियाज अहमद
ब्यूरो, मधेपुरा

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें