मधेपुरा में चार बच्चे की माँ को दहेज लोभी पति ने जिंदा जलाया, मौत

Photo : www.therepublicantimes.co
728x90
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : मधेपुरा जिला के उदाकिशुनगंज अनुमंडल क्षेत्र में दहेज लोभी पति द्वारा अपनी पत्नि को जिंदा जला देने का मामला सामने आया है। मामला उदाकिशुनगंज थाना क्षेत्र के नयानगर गांव का है, जहां एक दहेज लोभी पति ने अपनी पत्नी के शरीर ज्वलनशील पदार्ध डाल कर जिंदा जला दिया। घटना 28 मार्च को सुबह करीब 8 बजे की बताई जाती है।  

मिली जानकारी के अनुसार पूर्णिया जिले के बरहरा थाना क्षेत्र अंतर्गत मल्डीहा गाँव के मदन प्रसाद सिंह की पुत्री स्नेहा कुमारी की शादी मधेपुरा उदाकिशुनगंज थाना क्षेत्र के बुधमा ओपी अंतर्गत नयानगर पंचायत के वार्ड 13 निवासी प्रभाकर सिंह के पुत्र अनुरंजन सिंह उर्फ सिंटु सिंह के साथ वर्ष 2011 मे शादी हुई थी। शादी के उपरांत दो लड़का एवं दो लड़की हुई थी। मृतका के माईके के परजिनो के अनुसार दहेज को लेकर महिला को उनके पति और ससुराल वालों के द्वारा बार बार प्रताड़ित किया जाता था, डिमांड पूरी नही होने पर महिला के साथ आए दिन मारपीट करते रहते थे।

advertisement

वही घटना की जानकारी महिला के माइके वालों को मिली तो माइके के लोग फौरन लड़की के ससुराल पहुंचे, लेकिन लड़की घर में नहीं मिली, खोजबीन करने पर आलमनगर स्थित एक निजी किलीनिक में अधजले अवस्था में वह मिली, जहाँ महिला की थोड़ी बहुत सांसें चल रही थी और महिला के पति सहित ससुराल के सभी लोग महिला की नाजुक हालत देख कर फरार हो गए। तत्पश्चात महिला के मायके वालों के द्वारा महिला को आलमनगर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया लेकिन हालत काफी नाजुक होने की वजह से महिला को वहाँ से सहरसा रेफर कर दिया गया, और  सहरसा जाने के क्रम में महिला ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

महिला की मौत के बाद सहरसा सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया जिसके बाद मायके के लोगों के द्वारा महिला के शव को मधेपुरा स्थित उसके ससुराल लाया गया और शव को महिला के घर के सामने रख कर सड़क जाम कर इंसाफ की मांग करने लगे। मायके वालों का कहना था कि आरोपी की गिरफ्तारी के साथ साथ मृतका के चारों बच्चों को सामने लाया जाए। जिसे कही गायब कर दिया है। जिसके बाद स्थानीय पुलिस द्वारा चारो बच्चों को लाया गया और स्थानीय पुलिस एवं बुद्धिजीवी लोगों द्वारा समझा बुझा कर सड़क मार्ग को बहाल कराया गया। वहीं मृत महिला के परिजनों ने  स्थानीय पुलिस पर आरोप लगाते कहा कि सूचना देने के बावजूद भी पुलिस विलम्ब से पहुंची।

इधर मामले को लेकर थानाध्यक्ष शशिभूषण सिंह ने बताया कि दिए गए आवेदन दे आधार पर छह लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया। जल्द ही सभी आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

कौनैन बशीर
वरीय उप संपादक

Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें