मधेपुरा : फुटपाथ विक्रेता अपने अधिकार के लिए संगठित होकर तेज करें संघर्ष- प्रमोद प्रभाकर

www.therepublicantimes.co
मधेपुरा : फुटपाथ विक्रेता संघ के शताब्दी समारोह में शामिल अतिथिगण
Spread the news

मधेपुरा/बिहार : रविवार को नगर परिषद अंतर्गत पानी टंकी चौक स्थित सब्जी बाजार परिसर में फुटपाथ विक्रेता संघ का शताब्दी समारोह, संघ के जिलाध्यक्ष दिलीप पटेल की अध्यक्षता में संपन्न हुआ, समारोह का उद्घाटन फुटपाथ विक्रेता संघ के प्रदेश अध्यक्ष नंदलाल राम, नगर परिषद के नगर प्रबंधक नजमुल जफर एवं भाकपा के राष्ट्रीय परिषद सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलित कर किया.

समारोह को संबोधित करते हुए संघ के प्रदेश अध्यक्ष नंदलाल राम ने कहा कि  संवाद किसी भी समस्या का हल करने का रास्ता हो सकता है, लेकिन इसके लिए सतत प्रयास की आवश्यकता है. नगर विक्रय समिति की नियमित मासिक बैठक होना आवश्यक है. जिससे फुटपाथ दुकानदारों की समस्या पर लगातार बातचीत हो सके. उन्होंने कहा कि कानून के अंदर फुटपाथ दुकानदारों को व्यवस्थित करने की बात कही गई है, लेकिन वेंडिंग जोन के लिए नगर परिषद के पास जगह उपलब्ध नहीं रहता है. वह अन्य विभागों से एनओसी मांगते रहते हैं.

नहीं रोका जा सकता है प्राकृतिक बाजार, जहां रहेगा मंदिर, वहीं लगेगी फूल माला की दुकान : प्रदेश अध्यक्ष नंदलाल राम ने कहा कि प्राकृतिक बाजार को कोई रोक नहीं सकता है. जहां मंदिर रहेगा, वहां फूल माला प्रसाद की दुकान रहेगी. जहां हॉस्पिटल रहेगा, वहां चाय-पानी, फल, जूस की दुकान रहेगी, लेकिन प्रशासन द्वारा कभी-कभी कानून की धज्जियां उड़ाते हुए बिना सूचना दिये हुये जगह-जगह दुकानदारों को उतारा जाता है. उन्हें परेशान किया जाता है. इसलिए आज भी हम फुटपाथ दुकानदारों की स्थिति काफी नाजुक बनी हुई है. हमें अपनी स्थिति को सुधारने के लिए संगठित होकर संघर्ष को तेज करना होगा.

www.therepublicantimes.co
मधेपुरा : शताब्दी समारोह में शामिल फुटपाथ विक्रेता

समारोह के मुख्य वक्ता भाकपा के राष्ट्रीय परिषद सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने कहा कि वर्ष 2014 में फुटपाथ दुकानदारों के लिए कानून बनी, जिसे वर्ष 2017 में राज्य सरकार ने लागू करने का फैसला लिया, लेकिन वह फैसला ढाक के तीन पात साबित हुआ. उन्होंने कहा कि वेंडिंग जोन, पहचान पत्र, लाइसेंस इत्यादि के लिए आज भी फुटपाथ दुकानदार दर-दर की ठोकरें खाते हैं. उन्हें आवश्यकता अनुसार सरकारी सहायता या कर्ज उपलब्ध नहीं हो पाता है. इसलिए फुटपाथ दुकानदार आजादी के 73 वर्ष के बाद भी कीड़े मकोड़े की जिंदगी जीने को विवश हैं.

फुटपाथ विक्रेता अपने अधिकार के लिए संगठित होकर तेज करें संघर्ष : राष्ट्रीय परिषद सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने कार्यक्रम में उपस्थित फुटपाथ दुकानदारों से कहा कि आप अपने अधिकार के लिए संगठित होकर संघर्ष तेज करें, हमारी पार्टी एवं महागठबंधन आपके संघर्ष के साथ है. हम लड़ेंगे और जीतेंगे.

मौके पर संघ के सहरसा जिलाध्यक्ष कृष्णा प्रसाद साह, नगर परिषद के नगर मिशन प्रबंधक अभिषेक आनंद, राजीव कुमार, संघ के जिला सचिव चंदेश्वरी मंडल, अशोक कुमार आदि ने भी संबोधित किया. इस अवसर पर रउफ, नौशाद, दिलीप यादव, अशोक राय, कमरुद्दीन, शब्बीर आलम, जाशो मुखिया, जुबेर, फिरोज, पप्पू यादव, किशुन साह, दुर्गा देवी, विभा देवी, मंजू देवी, मीरा देवी, मांडवी देवी, यशोदा देवी समेत बड़ी संख्या में फुटपाथ दुकानदार उपस्थित थे.

मौके पर उपस्थित नगर परिषद के पदाधिकारी ने कहा कि शीघ्र ही फुटपाथ दुकानदारों को  शिविर लगाकर बैंक में खाता खुलवाया जायेगा एवं उन्हें परिचय पत्र दिया जायेगा. जिसे लगाकर वे अपना सामान बेचेंगे. समारोह में फुटपाथ दुकानदारों ने अपने संगठन को मजबूत करने एवं अपने समस्याओं के समाधान के लिए संघर्ष को तेज करने का संकल्प लिया.

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

Spread the news
advertise

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें