मधेपुरा : एक देशी कट्टा, तीन जिंदा कारतूस के साथ पाँच गिरफ्तार, तीन बाइक जब्त

Spread the news

Advertise
Advertise
अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : मधेपुरा पुलिस द्वारा अपराध नियंत्रण एवं अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी, वाहन जांच एवं गश्ती की जा रही है. पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार के निर्देश पर जिले के दोनों अनुमंडल के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में जिले के सभी थानाध्यक्षों एवं ओपी प्रभारियों के द्वारा अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है तथा अपराधियों पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है. जिसके कारण अपराधियों की गिरफ्तारी भी की हो रही है.

खबर से संबंधित वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

इसी क्रम में गुरुवार को जिले के पुरैनी थाना से एक देसी कट्टा, तीन जिंदा कारतूस एवं तीन मोटरसाइकिल के साथ पांच अपराधियों की गिरफ्तारी की गई है. इस आशय की जानकारी गुरुवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने दी. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि एक महीने पूर्व पुरैनी थाना में लूट की घटना को लेकर, मामला दर्ज किया गया था. जिसे लेकर अनुसंधान किया जा रहा था. इसी क्रम में गुप्त सूचना के आधार पर पांचो अपराधियों की गिरफ्तारी की गई है.

Advertise
Advertise

गिरफ्तार अपराधियों ने एक महीने पूर्व दिया था लूट की घटना को अंजाम : पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने बताया कि पुरैनी थाना में एक महीने पूर्व लूट की घटना को लेकर दर्ज मामले में उदाकिशुनगंज अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सतीश कुमार के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया था. जिनके द्वारा लगातार घटना को लेकर अनुसंधान किया जा रहा था. इसी क्रम में गुरुवार को गुप्त सूचना मिली की घटना में सम्मिलित कुछ अपराधी अपने घर पर हैं. जिसके बाद थानाध्यक्ष द्वारा मिली सूचना के आधार पर मामले के अभियुक्त आलमनगर थाना अंतर्गत निवासी नरेश चंद्रवंशी के पुत्र सोहित कुमार चंद्रवंशी की गिरफ्तारी के लिए, पुरैनी थाना अंतर्गत चटनमा निवासी हिसाबी मेहता के पुत्र अमलेश कुमार के घर पर छापेमारी की गई. छापेमारी में अमलेश कुमार एवं सोहित कुमार चंद्रवंशी के साथ आलमनगर थाना अंतर्गत वार्ड नंबर चार निवासी निरंजन भक्ता के पुत्र राजा कुमार उर्फ भक्ता को एक मोटरसाइकिल, हथियार एवं गोली के साथ गिरफ्तार किया गया.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद रोहित कुमार चंद्रवंशी से पूछताछ की गई. पूछताछ में उसने स्वीकार किया कि एक महीने पूर्व पुरैनी थाना में हुए लूटपाट की घटना को उन लोगों ने अंजाम दिया था. जिसमें उसके अलावा राजा कुमार उर्फ भक्ता एवं आलमनगर थाना अंतर्गत वार्ड नंबर 11 निवासी बबलू राम के पुत्र शिवम कुमार, पुरैनी थाना अंतर्गत सपरदह वार्ड नंबर छह निवासी लरगुज यादव के पुत्र सोनू कुमार एवं टुनटुन यादव के पुत्र गौरव कुमार भी शामिल थे. रोहित कुमार चंद्रवंशी की निशानदेही पर शिवम कुमार एवं सोनू कुमार को भी गिरफ्तार किया गया.

पूर्व मुखिया पर भी चलाने के मामले में भी शामिल थे सोहित एवं अमलेश : पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों को लेकर अनुसंधान जारी था. अनुसंधान के क्रम में मालूम चला कि बिहारीगंज थाना में एक मामला दर्ज किया गया था. जिसमें बिहारीगंज थाना अंतर्गत मंझौरा में पूर्व मुखिया पर जान से मार देने की नियत से गोली चलाई गई थी. जिसमें पूर्व मुखिया की जान बच गई थी. उन्होंने बताया कि अनुसंधान में ऐसे ऐसे सबूत मिले हैं कि, जिससे पता चला कि लूट कांड की घटना को लेकर गिरफ्तार दो अपराधी सोहित कुमार चंद्रवंशी एवं अमलेश कुमार इस घटना में शामिल थे. उन्होंने बताया कि घटना में शामिल अमलेश कुमार, अपराधी मंजय मेहता, जिसकी हत्या कर दी गई थी, उसका सगा भाई है. जिसके बाद अमलेश ने अपने भाई की हत्या का बदला लेने के लिए सारा षड्यंत्र रचा था. उन्होंने बताया कि घटना में जिस हथियार का इस्तेमाल किया गया था, वह भी जप्त कर लिया गया है तथा घटना में उपयोग में लाने वाली मोटरसाइकिल को भी, इनलोगों की निशानदेही पर जप्त कर लिया गया. इस गिरफ्तारी के बाद उदाकिशुनगंज अनुमंडल के दो मामलों का उद्भेदन कर लिया गया है. साथ ही इन लोगों के साथ जप्त मोटरसाइकिल की भी जांच की जा रही है. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इन लोगों के गिरफ्तार होने से लूट की घटना एवं गोली चलाने की घटना में नियंत्रण आयेगा.


Spread the news
advertise

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें