अभाविप कार्यकर्ताओं ने BNMU प्रशासन खिलाफ किया प्रदर्शन, स्पॉट राउंड नामांकन में सीट बेचने का लगाया आरोप

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय में रविवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने बीएड नामांकन के लिए जारी स्पॉट राउंड नामांकन में गड़बड़ी को लेकर में जमकर प्रदर्शन किया. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर बीएड के नामांकन में  धांधली का आरोप लगाते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. कार्यकर्ताओं का आरोप था कि विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा स्पॉट राउंड नामांकन में सीट बेचा जा रहा है. इस दौरान कुछ देर के लिए पत्थरबाजी भी हुई. साथ ही बीएड में नामांकन प्रक्रिया के दौरान हुई धांधली को लेकर विश्वविद्यालय के नोडल अधिकारी, बीएड संकाय के विभागाध्यक्ष एवं बीएड प्रबंधन समिति के सदस्य का घेराव किया भी किया गया.

प्रदर्शन की सूचना विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा सदर थाने को दी गई सूचना मिलने के तुरंत बाद थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद सिंह समेत अन्य कमांडो एवं पुलिस बल मौके पर पहुंचकर अभाविप कार्यकर्ताओंं से वार्ता कर मामले को शांत किया.

गुपचुप तरीके से अधिकारियों द्वारा पैसे लेकर छात्रों का लिया गया नामांकन : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर आरोप लगाया कि स्पॉट राउंड नामांकन में विश्वविद्यालय के बीएड विभाग एवं पार्वती विज्ञान महाविद्यालय में सीटों की धांधली कर गुपचुप तरीके से अधिकारियों द्वारा पैसे लेकर अपने चहेते छात्रों का नामांकन लिया गया है. इसको लेकर वे लोग रविवार को विश्वविद्यालय के अधिकारी मिलने के लिए पहुंचे, लेकिन वहां बीएड विभाग के इंचार्ज मौजूद नहीं थे. इसके बाद वे लोग नोडल पदाधिकारी डा अशोक कुमार सिंह से मिलने के लिए उनके कार्यालय पहुंचे. वे कार्यालय में बैठकर अपने कर्मियों के साथ बीएड नामांकन संबंधित कुछ काम कर रहे थे.

इस दौरान नारेबाजी एवं पत्थरबाजी भी हुई. अभाविप के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य सुजीत सान्याल, प्रदेश सहमंत्री अभिषेक यादव एवं विश्वविद्यालय प्रमुख सह सीनेट सदस्य रंजन यादव ने कहा क भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा गुपचुप तरीके से रात के समय में अचानक नामांकन करके सीटों को भरने का काम किया गया. उन्होंने कहा कि जब विश्वविद्यालय के द्वारा पत्र जारी हो गया था कि नामांकन की प्रक्रिया को अवलोकन करने के पश्चात ही नामांकन लेना है तो फिर नामांकन अचानक से रातों- रात में कैसे कर लिया गया. उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के बीएड विभाग के 25 सीटों एवं पार्वती विज्ञान महाविद्यालय के 20 सीटों पर धांधली कर नामांकन लिया गया है. जबकि अन महाविद्यालयों में नामांकन नहीं हुआ है.

दोषी अधिकारियों पर नहीं हुई कार्रवाई तो होगा उग्र आंदोलन : जिला संयोजक शशि यादव एवं प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अमोद कुमार ने सीधे कहा कि विश्वविद्यालय ने गुपचुप तरीके से सीटों को बेचकर नामांकन प्रक्रिया को अपनाया है एवं शिक्षा माफियाओं को सह देने का काम किया है. उन्होंने कहा कि कहीं न कहीं जानबूझकर ऐसे मानसिकता वालों को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन उनके ढाल बनकर सामने आते हैं. विश्वविद्यालय के द्वारा आदेश निर्गत करने के बावजूद भी आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए विश्वविद्यालय के बीएड विभाग एवं पार्वती विज्ञान महाविद्यालय ने नामांकन लिया है, जो कहीं से भी न्याय उचित नहीं है. जिला संगठन मंत्री उपेंद्र कुमार ने मांग किया कि शिक्षाशास्त्र विभाग के प्रोफेसर इंचार्ज एवं पार्वती विज्ञान महाविद्यालय के प्राचार्य पर अविलंब कार्रवाई की जाय.

अभाविप कार्यकर्ताओं ने बीएनएमयू कुलपति प्रो डा आरकेपी रमण से मिलकर अविलंब दोषी अधिकारियों एवं प्राचार्य पर कार्रवाई की मांग की तथा कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन अभिलंब इन दोषियों पर कार्रवाई नहीं करती है तो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगी.

मौके पर प्रदेश कार्यसमिति सदस्य दिलीप कुमार दिल, नगर मंत्री सौरभ कुमार यादव, संतोष कुमार, सैन यादव, प्रभु कुमार, आशीष कुमार, हेमंत कुमार, रवीश कुमार, कुंदन कुमार, कृष्णमोहन कुमार, स्वर्ण कुमार, बिट्टू कुमार, नंदीप कुमार समेत अन्य अभाविप कार्यकर्ता उपस्थित थे.


Spread the news
advertise

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें