सुपौल : इस गॉंव में विकास की गंगा इतनी बही कि महापंचायत  बुलाकर मतदान का कर दिया बहिष्कार

Spread the news

रियाज खान
संवाददाता
छातापूर/सुपौल

छातापुर/सुपौल/बिहार : छातापुर प्रखंड के लालगंज पंचायत के वार्ड नंबर एक स्थित पड़ियाही गांव में रविवार को उत्क्रमित मध्य विद्यालय के पास ग्रामीणों की महापंचायत हुई। जिसमें ग्रामीणों ने एकजुट होकर मतदान केंद्र संख्या 187 और 188 पर मतदान बहिष्कार करने का निर्णय लिया।

आयोजित महापंचायत में वार्ड संख्या एक, दो, तीन और सात के सैकड़ो ग्रामीण अपने-अपने हांथो में “रोड नहीं तो वोट नहीं”, “बहुत हुआ झूठे वादे की बात अब होगा सिर्फ विकास की बात”, “जग गया है मतदाता का ईमान-नहीं चलेगा नेताओं का झूठा फरमान”, “पहले हमारी मांग-फिर मतदान” आदि नारों का स्लोगन वाली तख्तियां लिए हुए थे। ग्रामीणों ने बताया कि उक्त दोनों मतदान केंद्र पर लगभग 16 सौ मतदाता है, जो आगामी विधानसभा चुनाव में अपने मत का प्रयोग नहीं करने और वोट बहिष्कार करने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया है । बताया कि यह गांव दो नदियों के बीच घिरा हुआ है, गेड़ा और मिरचैया नदी में आजादी 74 सालों बाद भी पुल एवं पक्की सड़क का निर्माण नहीं हुआ है। जिसका मांग उनलोगों द्वारा बराबर किया जा रहा है। लेकिन आज तक गांव में पक्की सड़क और नदी में पुल नहीं बन पाया है। जिससे ग्रामीणों और राहगीरों को काफी परेशानी होती है।

खबर से संबंधित वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें :

बताया की इस गांव में हाई स्कूल नहीं रहने के कारण यहां के छात्र छात्रा को प्रतापगंज हाई स्कूल जाना पड़ता है, नदी में पुल नहीं रहने के कारण साल भर में मात्र 5 से 6 महीना ही स्कूल जा पाता है । बताया कि इस गांव में दूसरे गांव के लोग शादी विवाह करने से भी कतराते हैं । ग्रामीणों बताया कि खासकर गर्भवती महिलाएं और बीमार मरीज को अस्पताल ले जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

लोगों की मांगों में, लालजी चौक से गेड़ा घाट पड़ियाही से होते हुए उधमपुर, टेकुना, गोनर चौक प्रतापगंज जाने वाली सड़क में तीन पुल के साथ पक्की सड़क निर्माण कार्य शामिल है।

ग्रामीणों ने कहा चुनाव के समय प्रत्याशी वोट मांगने आते हैं और झूठे वादे कर चले जाते हैं। जितने के बाद इस गांव में झांकने तक नहीं आते है, और अपना वादा भूल जाते है।

मौके पर प्रदीप साह, संतोष कुमार, राजकुमार, शमशेर आलम, संजय उरांव, अरुण मंडल, कुलानंद मंडल, सुबोध मंडल, अमित कुमार, जगन उरांव, श्रीलाल मंडल, महेंद्र साह, चंदेश्वरी मंडल, दिनेश ठाकुर, शिवनारायण कामत, बजरंग साह, असफाक आलम, इंद्रजीत मुखिया, नवीन कुमार आदि मौजूद थे।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें