सुपौल : नदी में नहाने के दौराने डूबने से एक 15 वर्षीय बालक और एक 8 वर्षीय किशोरी की मौत

Spread the news

रियाज खान
संवाददाता
छातापूर/सुपौल

छातापुर/सुपौल/बिहार : थाना क्षेत्र के दो अलग-अलग पंचायत में नहाने के दौरान एक 15 वर्षीय किशोर एवं एक आठ वर्षीय किशोरी डूब गई । चुन्नी पंचायत के वार्ड नंबर एक के समीप सुरसर नदी में मंगलवार को एक 15 वर्षीय किशोर का नदी में नहाने दौरान गहरे पानी मे चले जाने के कारण डूब गया ।

नदी में डुबा किशोर मंगलवार को बस्ती के अन्य लङकों के साथ स्नान करने गया था। हैरानी इस बात की है कि किशोर के डुबे 24 घंटे गुजरने के बाद भी पुलिस व प्रशासन के द्वारा शव खोजने का प्रयास शुरू नहीं किया जा सका है। इसको लेकर आस पास के बस्तियों में लोगों के बीच आक्रोश बना हुआ है। जानकारी अनुसार नदी में डुबा किशोर उत्तर प्रदेश का रहने वाला है जो वार्ड संख्या एक निवासी मो जहांगीर एवं मो नुनु के घर वर्षों से रह रहा था। हाल ही में जहांगीर के नेपाल स्थित घर से वह उसके साथ चुन्नी आया और मजदूरी के लिए बुधवार को बाहरी प्रदेश जाने वाला था।

बताया जाता है कि स्नान करने गये लङकों ने उसे डुबता देख शोर भी नहीं मचाया और नदी किनारे रखे उसके कपड़े, चप्पल, रूपया व आधार कार्ड लेकर वहां से भागकर घर लौट आया, घटना से अवगत होने के बाद भी परिचितों ने शव को खोजने का कोई प्रयास नहीं किया। परिचितों के इस प्रकार का संवेदनहीन रवैया कई सवालों को जन्म दे रहा है। हालांकि समीप के महादलित बस्ती निवासी वार्ड सदस्या मूर्ती देवी के द्वारा थाना पहूंचकर इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। समाचार प्रेषण तक पुलिस घटना स्थल पर नहीं पहूंच पाई थी। बताया जाता है कि घटना की रात मो याकूब के दरवाजे पर बस्ती वासियों ने बैठक कर घटना को लेकर विचार विमर्श भी किया। लेकिन निष्कर्ष क्या निकला यह तो पुलिस के जांच के बाद ही पताा चलेगा।

वहीं झखाड़गढ़ पंचायत के शिवनी घाट से उत्तर सुरसर नदी में मंगलवार को नहाने के दौरान एक आठ वर्षीय किशोरी की डूबने से मौत हो गई । बुधवार को पहुंचे एनडीआरएफ की टीम काफी मशक्कत के बाद किशोरी के शव को घिवहा पंचायत के समीप सुरसर नदी से संध्या पांच बजे खोज निकाला । बताया जाता है झखाड़गढ़ पंचायत के वार्ड नंबर चार निवासी मो रब्बान की आठ वर्षीय पुत्री आफरीन खातून मंगलवार को अपनी बहन प्रवीना के साथ नदी किनारे घास काटने गई हुई हुई थी, जहां नदी में कुछ बच्चे को नहाते देख कर दोनो बहन भी नहाने लगी, उसी क्रम में आफरीन डूबने लगी, उसे डूबता देख साथ मे नहा रहे बच्चों ने उसे बचाने का प्रयास किया लेकिन दो बच्चा और डूबने लगा, सभी को डूबता देख नदी में नहा रहे एक किशोर ने पानी मे तैरकर डूब रहे दोनों बच्चे को बचा लिया, लेकिन आफरीन को नहीं बचा पाया।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें