मधेपुरा : नामांकन के प्रथम दिन एक भी प्रत्याशी ने नहीं भरा नामांकन का पर्चा, आस में पूरे दिन बैठे रहे अधिकारी एवं कर्मी

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया मंगलवार से शुरू कर दी गई है, जिले की चार विधानसभा सीटों के लिए यह नामांकन शुरू की गई है। जिले में विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार से शुरू हुए नामांकन के पहले दिन एक भी प्रत्याशी के द्वारा नामांकन का पर्चा नहीं भरा गया। सदर अनुमंडल अंतर्गत मधेपुरा विधानसभा एवंं सिंहेश्वर विधानसभा के एक भी प्रत्याशियों ने नामांकन पर्चा नहीं भरा। मधेपुरा एवं सिंहेश्वर विधानसभा में दो नाजिर रसीद नामांकन-पत्र भरने के लिए कटवाया गया। आलमनगर एवं बिहारीगंज विधानसभा क्षेत्र के लिए भी एक भी नामाकांन का पर्चा दाखिल नहीं किया गया। वहीं बिहारीगंज विधानसभा क्षेत्र के लिए तीन लोगों ने नामजदगी के नजारत में जमानत की राशि जमा कर रसीद कटवाया है। नामांकन कार्य में किसी तरह की त्रुटि ना रहे तथा कोई परेशानी ना हो, इसके लिए लगातार जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला एवं पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार जिले के चारों विधानसभा आलमनगर, बिहारीगंज, सिंहेश्वर एवं मधेपुरा के नामांंकन स्थल का जायजा लेते रहे। जिला पदाधिकारी के द्वारा चारों विधानसभा के लिए नामांकन के लिए की गई तैयारियों का जायजा लिया गया। जिलाधिकारी ने मधेपुरा विधानसभा के निर्वाची पदाधिकारी सह सदर अनुमंडल पदाधिकारी नीरज कुमार के कार्यालय में जाकर पूरी व्यवस्था का जायजा लिया। साथ ही सिंहेश्वर विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचित पदाधिकारी सह भूमि सुधार उप समाहर्ता गोपाल कुमार की तैयारी का भी जायजा लिया गया।

20 अक्टूबर तक नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं प्रत्याशी : जिला पदाधिकारी ने अभ्यर्थियों एवं प्रस्तावक के लिए निर्धारित प्रतीक्षा स्थल, आब्जर्वर के लिए कार्यालय कक्ष, कोविड-19 के नियमों के तहत हेल्प डेस्क समेत हेल्प डेस्क का मुआयना किया। जिला पदाधिकारी ने उदाकिशुनगंज अनुमंडल कार्यालय स्थित आलमनगर विधानसभा क्षेत्र के निर्वाची पदाधिकारी सह भूमि सुधार उपसमाहर्ता कुंदन कुमार एवं बिहारीगंज विधानसभा क्षेत्र के निर्वाची पदाधिकारी सह अनुमंडल पदाधिकारी राजीव रंजन कुमार सिन्हा से नाम निर्देशन को लेकर की गई व्यवस्था का भी जायजा लिया। जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला ने बताया कि मंगलवार से 20 अक्टूबर तक प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं, सार्वजनिक अवकाश को छोड़कर अन्य दिनों में प्रत्याशी सुबह 11 बजे से शाम तीन बजे तक नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं। नामांकन पत्र में प्रस्तावक के हस्ताक्षर होना अनिवार्य है। 21 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच की जायेगी और 23 अक्टूबर तक प्रत्याशी अपना नाम वापस ले सकते हैं, इसके बाद प्रत्याशियों की फाइनल लिस्ट तैयार करने के साथ चुनाव चिह्न वितरण कार्य किया जायेगा। सदर अनुमंडल कार्यालय में मधेपुरा एवं सिंहेश्वर विधानसभा के और उदाकिशुनगंज अनुमंडल कार्यालय में बिहारीगंज एवं आलमनगर विधानसभा के प्रत्याशी नामांकन का परचा दाखिल करेंगे. कोविड-19 को लेकर नामांकन के समय किसी प्रकार के जुलूस की अनुमति नहीं दी गई है, साथ ही धारा 144 का पूरी कराई के साथ पालन किया जा रहा है।

प्रत्याशियों की आस में पूरे दिन बैठे रहे अधिकारी एवं कर्मी : विधानसभा चुनाव को लेकर नामांकन के पहले दिन प्रत्याशियों द्वारा नामांकन का पर्चा नहीं भरने के कारण नामांकन काउंटर पूरे दिन खाली खाली सा रहा। प्रत्याशियों के नामांकन पर्चा दाखिल करने के कारण अनुमंडल कार्यालय से लेकर थाना चौक एवं दूसरी तरफ पूर्णिया गोला चौक तक जिला प्रशासन से लेकर पुलिस एवं पारा मिलिट्री फोर्स के जवान तैनात रहे। अनुमंडल कार्यालय में मधेपुरा एवं सिंघेश्वर विधानसभा क्षेत्र के लिए तैयार पंडाल में तैनात कर्मी पूरे दिन प्रत्याशियों की आस में बैठे रहे, लेकिन एक भी प्रत्याशी नामांकन के लिए नहीं पहुंचे, साथ ही प्रत्याशियों एवं उनके समर्थकों को किसी तरह की परेशानी ना हो इसके लिए अनुमंडल परिसर में पुलिस बलों की भारी संख्या में प्रतिनियुक्ति की गई थी। वे लोग भी प्रत्याशियों की आस देखते रह गये. मालूम हो कि नामांकन स्थल के दो सौ मीटर में सभी प्रकार के वाहन के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। नामांकन स्थल के एक सौ मीटर के दायरे में प्रत्याशी के वाहन समेत केवल दो वाहन ही प्रवेश कर सकेंगे, जबकि उम्मीदवार के साथ केवल दो लोग नामांकन कराने जा सकेंगे।

नामांकन के दौरान बंद कर दिया गया मुख्य मार्ग : जिला मुख्यालय में दो विधानसभा क्षेत्र का नामांकन स्थल होने के कारण सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये थे। सदर अनुमंडल कार्यालय में मधेपुरा एवं सिंहेश्वर विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशियों का नामांकन का कार्य मंगलवार से शुरू कर दिया गया है नामांकन स्थल जिला मुख्यालय में होने के साथ-साथ  मुख्यालय की मुख्य बाजार में होने के कारण नामांकन स्थल के आवागमन के सभी मार्गो को आम लोगों के वाहन से आने जाने के लिए 11 बजे से लेकर तीन बजे तक बंद कर दिया गया था। इन नामांकन स्थल के समीप से गुजरने वाली मुख्य मार्ग के सभी रास्तों पर बैरिकेडिंग लगाकर पुलिस बल एवं पारा मिलिट्री फोर्स के जवान के साथ दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी की तैनाती कर दी गई थी।  नामांकन के दौरान मधेपुरा विधानसभा के निर्वाची पदाधिकारी सह सदर अनुमंडल पदाधिकारी नीरज कुमार एवं सिंहेश्वर विधानसभा के निर्वाची पदाधिकारी सह भूमि सुधार उप समाहर्ता गोपाल कुमार नामांकन स्थल पर पूरे दिन मौजूद रहे, साथ ही उपस्थित पुलिस अधिकारियों द्वारा लोगों को तीन बजे के बाद अनुमंडल से संबंधित कार्यों के लिए अनुमंडल कार्यालय आने के लिए निर्देश दे रहे थे।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें