मधेपुरा : हत्या कांड का मुख्य आरोपी अंशु यादव गिरफ्तार

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : 14 सितंबर को जिले के गम्हरिया थाना अंतर्गत अपराधियों द्वारा तीन व्यक्तियों को गोली मार दी गई थी، जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी तथा एक व्यक्ति इलाजरत है, इस कांड में शामिल मुख्य आरोपी अंशु यादव बीते कुछ दिन पहले पुलिस के द्वारा बनाए गए दबिश के कारण न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था, जिसके बाद मधेपुरा पुलिस ने अंशु यादव को रिमांड पर लेकर पूछताछ की, पूछताछ में अंशु यादव के द्वारा बताए गए निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिया गया है, साथ ही बिहारीगंज में भी बीते कुछ दिन पहले दो अपराधी की हत्या कर दी गई थी। जिसका शव सड़क किनारे मिला था, इस कांड में भी शामिल अभियुक्त पवन कुमार रजक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

कुछ दिन पहले गम्हरिया कांड का मुख्य आरोपी ने किया था आत्मसमर्पण : गुरुवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने बताया कि 14 सितंबर को रात्रि में गम्हरिया थाना अंतर्गत सिंगियान रुपौली काली चौक के समीप अपराधियों द्वारा तीन व्यक्तियों को गोली मारी गई थी, जिसमें दो व्यक्ति की मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी तथा एक व्यक्ति इलाजरत है। इस मामले में गम्हरिया थाना में कांड संख्या 154/20, 155/20 एवं 156/20 दर्ज करते हुए अनुसंधान प्रारंभ किया जा रहा था। मामले में अब तक नामजद सात लोगों की गिरफ्तारी हुई है। जिसे जेल भेज दिया गया है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि तीनों कांड के सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अजय नारायण यादव के नेतृत्व में पुलिस के द्वारा लगातार दबिश बनाई जा रही थी। जिसके कारण तीनों कांड में के मुख्य आरोपी अंशु यादव ने बीते कुछ दिन पहले न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था, जिसके बाद तीनों कांड में अगर तर अनुसंधान एवं घटना में प्रयुक्त हथियार की बरामदगी के लिए अंशु यादव को न्यायालय से रिमांड पर लिया गया। रिमांड पर लेने के बाद अंशु यादव से गहन पूछताछ की गई, जिसमें उसने अपना अपराध भी स्वीकार किया।

पूर्व से पांच मामले के अभियुक्त हैं कांड के मुख्य आरोपी : पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पूछताछ में अंशु यादव की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त एक लोहे का देसी कट्टा बरामद कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि मामले का मुख्य आरोपी अंशु यादव पर गम्हरिया थाना में पहले भी पांच मामले दर्ज हैं, जिसमें चार मामले आर्म्स एक्ट से जुड़ा हुआ है तथा एक मामला हत्या का है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अंशु यादव की गिरफ्तारी के बाद मामले में संलिप्त मुख्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी हो गई है, घटना की वजह को लेकर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस के द्वारा पूछताछ की गई है तथा आगे भी अनुसंधान जारी है।  मामले में तीनों पीड़ित परिवारों ने अलग-अलग आवेदन दिया था, तीनों आवेदन में अंशु यादव को नामजद अभियुक्त बनाया गया था। इसलिए सदर एसडीपीओ को निर्देश दिया गया है कि तीनों मामले का एक साथ अनुसंधान करें।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें