मधेपुरा के नये एसपी ने पोस्ट संभालते ही की बड़ी कारवाई, कहा : विधि व्यवस्था को कायम रखने में लापरवाही नाकाबिले-बर्दाश्त

Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : बुधवार को पूरे जिले में छापेमारी की गई थी। यह छापेमारी अपराध को नियंत्रण करने की दृष्टि से तो की ही गई थी, साथ ही साथ आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भी की गई थी। दोनों अनुमंडल में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में जिले के सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया गया था कि सभी थानाध्यक्ष एवं सभी पुलिस बल क्षेत्र में निकल कर जो भी गिरफ्तारी पेंडिंग है, चाहे वह केस में हो या गैर जमानती वारंट हो, सभी को पूरा किया जायेगा, इसमें जिले के सभी थानों ने काफी अच्छा कार्य किया है, और गिरफ्तार सभी अभियुक्तों को गुरुवार को जेल भेज दिया गया है।

मधेपुरा के नये एसपी ने पोस्ट संभालते ही की बड़ी कारवाई

उक्त बातें गुरुवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान मधेपुरा के नये पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने कही। उन्होंने बताया कि बुधवार को छापेमारी के दौरान कांड में शामिल आठ अपराधियों की गिरफ्तारी हुई है, वहीं गैर जमानती वारंट में 12 अपराधियों की गिरफ्तारी हुई है। इस तरह से बुधवार को पूरे जिले में 20 अपराधियों की गिरफ्तारी की गई है।  जिसे गुरुवार को जेल भेज दिया गया इसके अलावा अन्य दो वारंटी को भी गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बुधवार को पांच कुर्की जब्ती का भी निष्पादन किया गया है। वहीं अरार ओपी में 50 लीटर देसी शराब बरामद किया गया है, जिसके साथ एक बाइक भी जप्त किया गया है, साथ ही एक अपराधी को भी गिरफ्तार किया गया है। वहीं ग्वालपाड़ा थाना में दर्ज एक मोटरसाइकिल चोरी के मामले में सफलतापूर्वक चोरी की गई मोटरसाइकिल बरामद कर ली गई है तथा जिसने मोटरसाइकिल की चोरी की थी, उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है, इस प्रकार से मोटरसाइकिल चोरी का केस भी उद्भेदन हो गया है और सभी अपराधियों को भी जेल भेज दिया गया है।

पत्रकारों से वार्ता करते हुए पुलिस अधीक्षक श्री कुमार ने कहा कि जिले के सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दे दिया गया है कि वे प्रतिदिन इसी तरह कार्रवाई करते रहें, जिसकी मॉनिटरिंग वे स्वयं करते रहेंगे। पुलिस अधीक्षक नेेे बताया कि क्राइम कंट्रोल व विधि व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए वे स्वयं बुधवार की रात कई थानों का औचक निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि घैलाढ़ थाना में गस्ती कि वाहन निजी ड्राइवर के द्वारा चलाया जा रहा था, जिस मामले को लेकर थानाध्यक्ष को स्पष्टीकरण नोटिस किया गया है, साथ ही उस ड्राइवर को भी हटाने के लिए निर्देशित किया गया है क्योंकि यह मुख्यालय के आदेश की अवहेलना है। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। वहीं देर रात ही अरार ओपी का भी निरीक्षण किया गया, वहां निरीक्षण के दौरान एक अधिकारी ड्यूटी से गायब पाये गये, जिसके लिए उस अधिकारी एवं ओपी प्रभारी को स्पष्टीकरण नोटिस किया गया है, जवाब मिलने पर उचित कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को जिले में चुस्त-दुरुस्त रखने में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

 मालूम हो कि बुधवार को ही दरभंगा नगर के पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने मधेपुरा पुलिस अधीक्षक के रूप में पदभार ग्रहण किया। पदभार ग्रहण करने के बाद पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने क्राइम कंट्रोल व विधि व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए बड़ी कार्रवाई की है।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें