मधेपुरा : रतवारा ओ पी प्रभारी के खिलाफ भाकपा का उपवास कार्यक्रम

Spread the news

प्रेस विज्ञप्ति :

मधेपुरा/बिहार : रतवारा ओ पी प्रभारी के खिलाफ आज आलमनगर थाना अंतर्गत गौछी चौक पर भाकपा कार्यकर्ताओं ने एक दिवसीय उपवास कार्यक्रम आयोजित कर अपने गुस्से का इजहार किया। कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे भाकपा के के राष्ट्रीय परिषद सदस्य प्रमोद प्रभाकर ने कहा कि आलमनगर थाना कांड संख्या 190 2020 पूरी तरह से षड्यंत्रकारी एवं झूठ पर आधारित मुकदमा है। उन्होंने कहा कि रतवारा ओपी प्रभारी अपने क्षेत्र से बाहर जाकर जबरन मछुआरे का जाल छीन लेता है, मांगने पर मोटी रकम की मांग की जाती है, और जब लोग विरोध प्रदर्शन करने को मजबूर होता है तो पुलिस आंदोलन को दबाने का प्रयास करती है और उल्टे भाकपा नेताओं के ऊपर झूठा मुकदमा किया जाता है।

भाकपा नेता प्रभाकर ने मामले की उच्च स्तरीय जांच कराने एवं रतवारा ओपी प्रभारी राम निवास चौधरी को बर्खास्त करने की मांग पुलिस अधीक्षक मधेपुरा से की है। भाकपा नेता ने कहा कि हम पुलिस जुल्म नहीं सहेंगे, हमारी मांगे पूरी नहीं हुई तो होंगे उग्र संघर्ष। इस अवसर पर भाकपा के के जिला मंत्री विद्याधर मुखिया ने कहा कि नीतीश सरकार में पुलिस बेलगाम हो चुकी है,  शोषितों और गरीबों पर पुलिस लगातार जुल्म कर रही है, पुलिस प्रशासन भाकपा नेताओं को दोष मुक्त करें अन्यथा भाकपा संघर्ष के लिए बाध्य होगी।

मौके पर भाकपा के वरीय नेता रामदेव सिंह उमेश यादव जगत नारायण शर्मा, उमाकांत सिंह, बाबूलाल मंडल, मोती सिंह, अमरेंद्र सिंह, नीरज सिंह, सचिदा शर्मा, मोहम्मद परवेज आलम, भगवान शाह, विद्यानंद चौधरी, अजीत शर्मा, सुभाष गुप्ता, दिगंबर झा, गणेश सिंह, चंद्रशेखर पौदार, अंबिका मंडल, कुलानन्द चौधरी, शोभाकांत चौधरी, विकाश यादव, जीतन पासवान आदि बड़ी संख्या भाकपा कार्यकर्ता शामिल थे।


Spread the news

कोई जवाब दें

कृपया अपना जवाब दीजिये।
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें