मधेपुरा : मेडिकल कॉलेज के कार्यकारी अधीक्षक डा कर्नल अहमद अंसारी पर गिरी गाज  

Spread the news

» प्रधान सचिव ने मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के अधीक्षक को लगायी थी फटकार 

» मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के कार्य से संतुष्ट नहीं थे प्रधान सचिव  

» डा कृष्णा प्रसाद को बनाया गया मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल का उपाधीक्षक  

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के कार्यकारी अधीक्षक डा कर्नल अहमद अंसारी को मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के प्रभार से प्रशासनिक दृष्टिकोण से मुक्त कर दिया गया है। इस बाबत सरकार के अपर सचिव कौशल किशोर ने  राज्यपाल के आदेश से मंगलवार को ही पत्र जारी कर, इसकी सूचना दे दी है।

 सरकार के अपर सचिव कौशल किशोर द्वारा जारी किये गये पत्र के अनुसार जननायक कर्पूरी ठाकुर चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के अधीक्षक को डा कर्नल अहमद अंसारी को मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के प्रभार से प्रशासनिक दृष्टिकोण से मुक्त किया गया है। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के सर्जरी विभाग के प्राध्यापक डा राकेश कुमार को अगले आदेश तक के लिए जननायक कर्पूरी ठाकुर चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल का अधीक्षक पद का अतिरिक्त प्रभार दिया जाता है।

डा कृष्णा प्रसाद को बनाया गया मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल का उपाधीक्षक : डा राकेश कुमार को वित्त विभाग बिहार सरकार की अधिसूचना के द्वारा अधिसूचित बिहार कोषागार संहिता के अंतर्गत मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी की शक्ति प्रदत की जाती है। सरकार के अपर सचिव ने बताया कि मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के अधीक्षक डा कर्नल अहमद अंसारी अधीक्षक का प्रभाव तत्काल डॉ राकेश कुमार को सौंपेंगे तथा अभिलंब स्वास्थ विभाग के मुख्यालय में योगदान करेंगे। साथ ही सरकार के आकर सचिव कौशल किशोर ने दूसरा पत्र जारी कर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के औषधि विभाग के सह-प्राध्यापक डा कृष्णा प्रसाद को मेडिकल कालेज एवं अस्पताल का उपाधीक्षक अतिरिक्त प्रभार दिया है।

मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के कार्य से संतुष्ट नहीं थे प्रधान सचिव : लोगों की माने तो बीते 19 अगस्त को स्वास्थ विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत के द्वारा जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल का निरीक्षण किया गया था एवं व्यवस्था से नाराज दिखे थे। जिसमें प्रधान सचिव मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के अधीक्षक डा कर्नल अहमद अंसारी के कार्य से संतुष्ट नहीं थे। जिसके कारण ही यह निर्णय लिया गया। मालूम हो कि 19 अगस्त को सूबे के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल का निरीक्षण करने बुधवार को पहुंचे थे। उनके साथ स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह, संयुक्त सचिव संजीव कुमार, प्रबंध निदेशक बीएमएसआईसीएल प्रदीप कुमार झा, डीएम नवदीप शुक्ला, एसपी संजय कुमार सहित अस्पताल के अधीक्षक, प्राचार्य व अन्य प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी शामिल थे।

प्रधान सचिव ने मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के अधीक्षक को लगायी थी फटकार : निरीक्षण के दौरान प्रधान सचिव ने मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के अधीक्षक डा कर्नल अहमद अंसारी को फटकार भी लगायी थी,साथ ही अस्पताल के अधीक्षक कर्नल डॉक्टर अहमद अंसारी को भी खूब खरी-खोटी सुनाई थी। प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत कहा था कि जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज के कार्यशैली से मैं संतुष्ट नहीं हूं, जो कुछ देखा है पहले से काफी काम हो रहा है, बहुत कार्य करना बाकी है, कई समस्यायें हैं, इसके बारे में ध्यान आकृष्ट किया गया है। यहां के लोगों के लिए बहुत बड़ी सुविधा दी गई है। निश्चित रूप से जो त्रुटियां देखी है उसका शीघ्र सामाधान निकाला जायेगा।


Spread the news
advertise