नालंदा : कोरोना काल में चुनाव, विपरीत मानसिकता का परिचायक-कॉंग्रेस

Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय राजेंद्र आश्रम बिहार शरीफ में जिला अध्यक्ष दिलीप कुमार की अध्यक्षता में जिला कांग्रेस कमेटी के सभी पदाधिकारियों प्रखंड कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों सभी मोर्चा संगठन के अध्यक्षों के साथ-साथ पूर्व विधायक पूर्व सांसद प्रदेश प्रतिनिधियों एवं कांग्रेसजनों के साथ एक बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में बिहार प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के नालंदा जिला प्रभारी राजकुमार राजन एवं राजेश कुमार सिन्हा का आगमन हुआ। सर्वप्रथम कांग्रेसियों ने दोनों नेताओं का फूल माला एवं बुके देकर स्वागत किया तत्पश्चात जिला अध्यक्ष के द्वारा मोमेंटो एवं शॉल देकर उन्हें सम्मानित किया गया।

बैठक को संबोधित करते हुए प्रभारी द्वय ने कहा कि  इस बार का चुनाव बिहार वासियों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। आज प्रदेश की जो हालत हो गई है जनता त्राहि-त्राहि कर रही है, प्रशासन को जनता की परेशानी से कोई लेना-देना नहीं है। पुलिस प्रशासन बालू और शराब माफियाओं के चंगुल में पूरी तरह से फंस गई है। पुलिस को क्राइम से कोई मतलब नहीं है। अरबों रुपया का शराब का कारोबार एवं उससे भी ज्यादा खरबों रुपया का बालू का अवैध कारोबार पूरे बिहार में फल फूल रहा है और सरकार पूरी तरह से मौन है। सब कुछ देखते हुए भी अनदेखी कर रही है । इससे तो यही प्रतीत होता है कि सरकार की खुली सहमति दे दी गई है कि जितना मर्जी हो शराब और बालू बेचो और कमीशन सरकार तक पहुंचा दो। आप कितनी भी शिकायत करते रहेंगे, कोई भी पुलिस वाला आपकी सुनने के लिए तैयार नहीं है। बेरोजगारी का आलम यह है कि लोग 5000 की नौकरी के लिए भी मारे मारे फिर रहे हैं। बिहार में शिक्षा और स्वास्थ्य का क्या हाल है यह पूरा बिहार ही नहीं देश देख रहा है। उसके बाद भी बिहार के मुखिया वर्चुअल मीटिंग करने में लगे हैं। कार्यकर्ताओं से लेकर राज्य की जनता को बताने में लगे हैं कि कैसे उनके द्वारा बनाया गया पुल पुलिया पानी में बह जा रहा है। कैसे उनके द्वारा अस्पतालों में की गई व्यवस्था बिना डॉक्टर के चल रही है।

राजकुमार राजन ने जिला कांग्रेस कमेटी से मुखातिब होते हुए कहा कि इस बार के चुनाव में किसी भी हाल में कार्यकर्ताओं को धोखाधड़ी का शिकार नहीं होना पड़ेगा। वह खुद भी पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता हैं, इसलिए चुनाव में टिकट के समय किसी भी हाल में कार्यकर्ताओं की अनदेखी नहीं की जाएगी।

राजेश कुमार सिन्हा ने कहा कि बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से कार्यकर्ताओं को ध्यान में रखने के लिए ही हम दोनों को यहां चुनाव अभियान समिति का प्रभारी बनाया गया है, इसलिए इस बार आप लोग निश्चिंत भाव से रहिए और हम से बराबर संपर्क में रहे। किसी भी हाल में कार्यकर्ताओं की अनदेखी नहीं की जाएगी। नीतीश कुमार पर उन्होंने भी निशाना साधते हुए कहा कि आज के तारीख में कोरोना का ग्राफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है और हमारे मुखिया जनता की जान की परवाह किए बिना चुनाव करवाने के लिए सोच रहे हैं। यह उनकी विपरीत मानसिकता का परिचायक है। अध्यक्ष दिलीप कुमार ने अपने जिले के कांग्रेसियों एवं दोनों प्रभारियों के समक्ष अपनी बात रखते हुए कहा कि मैं इस बार विधानसभा के चुनाव में किसी भी हाल में कार्यकर्ताओं की उपेक्षा नहीं होने दूंगा, अगर हमारे कार्यकर्ताओं की उपेक्षा की जाती है तो हम लोग पटना से लेकर दिल्ली तक कार्यकर्ताओं की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हैं। गठबंधन होता है तो महागठबंधन के साथी दलों के कार्यकर्ताओं से तालमेल कर आगे की रणनीति बना कर काम करें। इस बार के चुनाव में महागठबंधन की सातों सीट से जीत सुनिश्चित करने के लिए हम सभी महागठबंधन के साथी दल एक साथ मिलकर पुरे जिले की रणनीति बनाकर चलेंगे। इस दौरान पूर्व विधायक नौशाद उन नबी उर्फ पप्पू खान ने भी अपनी बात को रखा।

बैठक समाप्त होने के बाद दोनों प्रभारी एक साथ बैठकर बारी बारी सभी लोगों से मिलकर उनकी राय जानी एवं कहा कि नालंदा में  सही मायने में  कांग्रेस काफी मजबूत है। जिले के कार्यकर्ताओं के बात को मैं ऊपर तक पहुंचाने में कोई कोर कसर नहीं छोडूंगा।

बैठक में जिला कांग्रेस कमेटी के सभी पदाधिकारी गण  उपस्थित थे।


Spread the news
advertise