नालंदा : प्रमंडलीय आयुक्त ने जिला में क्रियान्वित  विभिन्न योजनाओं के प्रगति का लिया जायजा

728x90
Spread the news

मुर्शीद आलम
नालंदा ब्यूरो
बिहार

नालंदा/बिहार : जिले में चलाए जा रहे विभिन्न योजनाओं की प्रगति को जानने के लिए मंगलवार को प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल नालंदा पहुंचे तथा संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

उन्होंने एनएच 82, स्मार्ट सिटी, कोविड-19, मुख्यमंत्री ग्रामीण परिवहन योजना, निर्वाचन पूर्व तैयारी, गंगाजल उद्वह योजना की समीक्षा की तथा संबंधित एजेंसी व विभाग को समय सीमा के अंदर कार्य को पूरा करने का निर्देश दिया। साथ ही कार्य में कोताही बरतने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया। एन एच 82, बिहार शरीफ- राजगीर भाग में दो तीन जगहों पर बिजली के ट्रांसमिशन लाइन को शिफ्ट करने के लिए एजेंसी को त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। इसके लिए आवश्यकता होने पर विद्युत ट्रांसमिशन कंपनी के साथ उच्च स्तरीय बैठक भी की जाएगी।

 राजगीर के पंडित पुर के पास रेल ओवर ब्रिज के निर्माण कार्य की प्रगति पर असंतोष व्यक्त किया। उन्होंने संवेदक को दो-तीन महीनों में कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया अन्यथा उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रगति नहीं होने पर संवेदक को ब्लैक लिस्ट करने की भी कार्रवाई की जाएगी। एनएच 82 के नवादा एवं गया जिला में पड़ने  वाले भाग में भी अपूर्ण कार्य को तेजी से पूरा करने का निर्देश दिया गया। इसके लिए संवेदक को अतिरिक्त मैनपावर एवं अन्य संसाधन का उपयोग सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

 बिहार शरीफ- राजगीर मार्ग के दोनों तरफ वृक्षारोपण का कार्य 3 से 4 दिनों के अंतर्गत सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया, वहीं  मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को आगामी 2 सप्ताह में सत प्रतिशत सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया।

आगामी बिहार विधानसभा निर्वाचन के आलोक में विभिन्न कोषांगों के माध्यम से निर्धारित समय सीमा के अनुरूप सभी पूर्व तैयारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। गंगाजल उद्वह योजना, इस योजना के तहत गंगाजल को पाइप लाइन के माध्यम से राजगीर एवं गया तक पहुंचाया जा रहा है। बिहार शरीफ स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट, स्मार्ट सिटी की काम में तेजी लाने पर विचार किया गया।
बैठक में जिला पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, नगर आयुक्त, वन प्रमंडल पदाधिकारी, क्षेत्रीय विकास पदाधिकारी पटना प्रमंडल सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय पदाधिकारी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी आदि उपस्थित थे।


Spread the news