उदासीनता : मधेपुरा शहर में शौचालय की व्यवस्था नहीं, यहाँ शर्मिंदगी और परेशानी का सामना करने हैं लोग

728x90
Spread the news

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : जिला मुख्यालय में आम लोगों के लिये शौचालय व मूत्रालय की व्यवस्था नहीं होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। स्टेशन चौक से ले कर कॉलेज चौक, बाइपास रोड, बैक रोड कही भी बाजार में आये लोगों के लिये न तो शौचालय की व्यवस्था है और न ही मूत्रालय की व्यवस्था है, जिस कारण बाजार में आये लोगों एवं स्थानीय दुकानदारों को शौच एवं मूत्र के लिये इधर-उधर भटकना पड़ता है।  वे गली कुचियों का सहारा लेते है या बाजार में ही सड़क किनारे गंदगी फैलाते है, जिससे राहगीरों, आम लोगों व बाजार में रहने वाले लोगों को खासे परेशानी का सामना करना पड़ता है, विशेष कर बाजार में आयी महिलाओं को ना सिर्फ परेशानी होती है बल्कि उन्हें शर्मिंदगी का भी सामना करना पड़ता है ।  

मुख्य बाजार में नहीं है शौचालय व मूत्रालय : मुख्य बाजार में सुभाष चौक, पूर्णिया गोला चौक, स्टेट बैंक रोड, स्टेशन चौक, जिला समाहरणालय के सामने हमेशा लोगों की भीड़ बनी रहती है, इन जगहों पर बाहर से भी लोगों का आना जाना लगा रहता है । मुख्य बाजार में  खरीदारी के लिये हमेशा लोगों की भीड़ बनी रहती है । लेकिन लोगों को शौच एवं मूत्र निकासी के लिये सोच कर परेशान होना पड़ता है, वे इधर-उधर जगह ढूंढते रहते हैं । दुकानदारों को भी अपने दुकान छोड़ कर गलियों का रास्ता अख्तियार करना पड़ता है । मुख्य बाजार में मूत्रालय की व्यवस्था थी । लेकिन वह भी जर्जर हो कर बेकार पड़ा हुआ है, जिस कारण बगल में ही लोग मूत्र आदि का विसर्जन करते हैं । जिससे हमेशा दुर्गंध होती रहती है । आस – पास के दुकानदारों को दुकान पर बैठने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है ।

आस-पास के लोगों को होती है परेशानी : जिला मुख्यालय स्थित बाजारों में शौचालय व मूत्रालय की व्यवस्था नहीं होने के कारण लोग बाजार से सटे गलियों को गंदा करने से नहीं चुकते हैं।  सुभाष चौक पर बाजार से सटे गली जो लॉ कॉलेज के तरफ जाता है, इन गलियों को भी मूत्रालय के रूप में प्रयोग करते हैं। जिससे आस पास रहने वाले लोगों को दुर्गंध का सामना करना पड़ता है। वहीं शिवनंदन प्रसाद मंडल उच्च विद्यालय जाने वाले रास्ते को दोनों ओर मूत्र निकासी किया जाता है। जिससे विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र-छात्रा इस रास्ते से विद्यालय जाने के क्रम में अपने नाक पर रूमाल रख कर निकलते हैं।

मुख्य सड़क से सटे गलियों का हाल है बुरा : बाजार में शौचालय व मूत्रालय की व्यवस्था नहीं रहने के कारण मुख्य बाजार से सटे गलियों में गंदगी का माहौल बना रहता है। इन गलियों से गुजरने वाले लोगों को खासे परेशानी का सामना करना पड़ता है। स्टेशन चौक से लेकर कॉलेज चौक तक कहीं भी शौचालय व मूत्रालय की व्यवस्था नहीं रहने से बाजार में लोगों को खासे परेशानी का सामना करना पड़ता है। वे इन गलियों को ही अपने निशाना बनाते है। जिस कारण शहर से सटे कोई भी गली चलने लायक नहीं रह गया है। गली में फैली पेशाब की गली से राहगीरों के साथ-साथ मुहल्ले वासी परेशान रहते है।

स्वच्छता अभियान है ताक पर : एक तरफ जहां सुंदर मधेपुरा, स्वच्छ मधेपुरा का सपना संजोया जाता है। लेकिन मुख्य बाजार के सड़क से जाने वाली गलियों का हाल बुरा है । गलियों के दोनों किनारे लोग खुले में मूत्र निकासी करते है। जिससे मुहल्ले वासी परेशान रहते है । खास कर गर्मी में तो बदबू से आस पास रहने वाले लोगों को खासे परेशानी का सामना करना पड़ता है । वहीं ऐसे जगहों पर कभी डीडीटी पाउडर का भी छिड़काव नहीं हाने से बदबू फैलते रहती है । साफ-सफाई को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जाता है, कार्यशाला का आयोजन किया जाता है । वहीं सभी चीजें पीछे छूट कर धरी की धरी रह जाती है । शहर में गंदगियों की कमी नहीं है । मुख्य बाजार के सड़क से जाने वाली गलियों के दोनों किनारे लोग खुले में मूत्र निकासी करते है । जिससे मुहल्ले वासी परेशान रहते है ।

शौच के लिये सोच कर परेशान रहते हैं लोग : बाहर से बाजार आये लोग शौच के लिये सोच कर परेशान रहते हैं । वहीं बाजार में स्थित दुकानदारों को भी दुकान छोड़ कर खुले में शौच के लिये जाना पड़ता है । बाजार से सटे गली व मुहल्ले में एकांत जगह देख कर लोगों द्वारा गंदा फैला दिया जाता है। जिससे मुहल्ले में रहने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। शहर के मुख्य बाजार के दुकानदार आदित्य कुमार बिट्टू, इमरान, आतिफ समेत अन्य दुकानदारों ने कहा कि बाजार में शौचालय व मूत्रालय नहीं रहने के कारण लोग परेशान रहते है । लोगों को इधर उधर भटकना पड़ता है । शौचालय व मूत्रालय का निर्माण होने से लोगों की मुश्किलें आसान हो जायेगी । शौचालय व मूत्रालय का होना मुख्य बाजार में बहुत ही जरूरी है, इससे गलियों में गंदगी नहीं फैलेगी । बाजार में आने के बाद मूत्रलाय नहीं होने के कारण यत्र तत्र गंदगी फैला देते है । बाजार में शौचालय व मूत्रालय का होना निहायत ही जरूरी है । इससे अगल बगल में गंदगी नहीं फैलेगी और शहर स्वच्छ बना रहेगा.

क्या कहते है पदाधिकारी : इस बाबत नगर परिषद कार्यपालक पदाधिकारी प्रवीण कुमार ने बताया कि बोर्ड के बैठक के अभाव में कई कार्य ठप पड़े हुये है। लॉकडाउन के बाद जल्द ही बैठक कर कार्य को प्रगति पर लाया जायेगा, साथ ही शहर में शौचालय एवं मूत्रालय को लेकर भी ठोस निर्णय लिये जायेंगे।


Spread the news