मधेपुरा : जिले में अब तक 964 लोग कोरोना संक्रमित, अब तक सिर्फ 17784 लोगों का कोरोना टेस्ट

728x90
Spread the news

» 23 दिनों में जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या तीन गुणा इजाफा

» सिर्फ 23 दिनों में छह सौ से अधिक व्यक्ति कोरोना  पॉजिटिव

» अब तक सिर्फ 17784 लोगों का कोरोना टेस्ट , जबकि जिले की आबादी लगभग 25 लाख  

अमित कुमार अंशु
उप संपादक

 मधेपुरा/बिहार : जिले में जैसे-जैसे कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। आम लोगों में सुरक्षा के प्रति सतर्कता कम होती जा रही है। हर रोज कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन बाजार में संक्रमण से बचाव की व्यवस्था शायद ही कहीं दिख रही है। सब्जी बाजार, मीट-मछली बाजार, सब्जी के थोक विक्रेताओं समेत शहर के अधिकांश जगहों पर ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है और ना ही मास्क का उपयोग किया जा रहा है।  साथ ही शहर के अधिकांश दुकानों पर सैनिटाइजर व्यवस्था उपलब्ध नहीं है। शुरुआत में कुछ दुकानों एवं प्रतिष्ठानों में स्क्रीनिंग एवं सैनिटाइजेशन की व्यवस्था दिख रही थी, वह भी अब इसकी जरूरत को भूल चुके हैं जिसके कारण बाजार में अधिकांश जगहों पर भीड़ लगी रहती है। दुकानों पर अब लोगों को दूरी बनाने को भी नहीं कहा जा रहा है, लोग भी अब सुरक्षा के प्रति उदासीन हो गये हैं।

वहीं दूसरी जिला प्रशासन भी सुरक्षा को लेकर कई आदेश जारी कर दिये हैं। लापरवाही बरतने वाले दुकानदारों एवं आम लोगों पर सख्ती बरतने के लिये सदर एसडीएम वृंदा लाल एवं सदर एसडीपीओ वसी अहमद द्वारा अनुमंडल क्षेत्र के सभी बीडीओ एवं थानाध्यक्षों को सख्त निर्देश दिया गया है।  अधिकारियों द्वारा शहर में गस्ती कर लापरवाही बरतने वाले दुकानदारों को सख्त निर्देश देने के साथ-साथ कार्रवाई भी की जा रही है।

जिले में तीन गुणा बढ़ा कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या : कोरोना से बचाव के प्रति उदासीनता के कारण संक्रमण के आंकड़ों में इजाफा हो रहा है। कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के आंकड़ों के अनुसार सिर्फ 23 दिनों में यह आंकड़ा तीन गुना ज्यादा हो चुका है।  एक अगस्त से राज सरकार द्वारा लागू किए गए लॉकडाउन में जिला प्रशासन द्वारा शर्तों के साथ एवं तय समय सीमा पर दुकानों को खोलने में थोड़ी रियायत दी गई। जिला प्रशासन द्वारा दुकानदारों को साफ निर्देश दिया गया था कि दुकान मालिक एवं उसमें कार्य कर रहे कर्मी मास्क का अवश्य उपयोग करेंगे तथा दुकान में सैनिटाइजर की व्यवस्था उपलब्ध रखेंगे, साथ ही यह भी ध्यान अवश्य रखेंगे की दुकान में प्रवेश करने वाले ग्राहक भी मास्क का उपयोग अवश्य करें। वहीं दुकानदारों को जिला प्रशासन के द्वारा जो दुकान खोलने एवं बंद करने के लिये समय तय किया गया है, उस समय का पालन करेंगे।

 इन सभी निर्देशों के बावजूद जिले के कई दुकानदार नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, इतना ही नहीं सबसे खराब स्थिति सड़कों पर ऑटो एवं ई रिक्शा के परिचालन में देखने को मिल रही है। इन वाहनों पर भी नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है।  वाहन चालक बिना मास्क पहने लोगों को भी बैठाकर एक जगह से दूसरी जगह पहुंचा रहे।

सिर्फ 23 दिनों में छह सौ से अधिक व्यक्ति कोरोना  पॉजिटिव : रोजाना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बढ़ता देख तथा संक्रमण की रोकथाम एवं संक्रमित व्यक्ति किसी दूसरे लोगों से के संपर्क में ना रहे, इसके लिये राज्य सरकार द्वारा 16 से 31 जुलाई तक लॉकडाउन 5 लागू किया गया था, वहीं पुनः एक से 16 अगस्त तक लॉकडाउन 6 किया गया। जिला प्रशासन के द्वारा निर्देश दिये जाने के बावजूद भी लोग लापरवाही करने से बाज नहीं आ रहे हैं। जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के आंकड़ों पर नजर डालें तो 21 मार्च से लेकर अब तक यानी सात अगस्त तक 964 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें 21 मार्च से लेकर 15 जुलाई तक यह आंकड़ा 327 पर ही था। वहीं राज्य सरकार द्वारा 16 जुलाई से लागू किये गये लॉकडाउन से लेकर सात अगस्त यानी शुक्रवार तक, मतलब सिर्फ बीते 23 दिनों का आंकड़ा देखा जाए तो छह सौ के पार हो चुका है, यानी बीते 16 जुलाई से सात अगस्त तक छह सौ 37 नये कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आये हैं, जिसके बाद शुक्रवार तक 964 लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। जिले में लगातार कोरोना संक्रमित व्यक्ति की संख्या बढ़ती जा रही है। समय रहते कोरोना महामारी को आमलोगों के साथ साथ सरकार को भी गंभीरता से लेने की जरूरत है नहीं तो जिले में यह महामारी भयानक रूप ले सकती है।

 अब तक 17784 लोगों का हुआ कोरोना टेस्ट, जबकि जिले की आबादी लगभग 25 लाख : सदर अस्पताल प्रशासन, जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिलक कॉलेज एवं अस्पताल प्रशासन द्वारा लगातार लोगों के सैंपल लिये जा रहे है एवं जांच किये जा रहे है। 21 मार्च से सात अगस्त तक सदर अस्पताल द्वारा लगभग 12 हजार 30 लोगों की स्क्रीनिंग की गयी। वहीं 16 हजार सात सौ 84 लोगों का सैंपल जांच के लिये भेजा गया, इसमें अब तक नौ सौ 64 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है।  इनमें से छह सौ 24 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं, साथ ही तीन सौ 40 लोग अभी इलाजरत है, जिसमें कई लोग जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में इलाजरत हैं तथा अन्य लोग राज्य के अन्य अस्पतालों के साथ-साथ होम कोरेंटीन में भी हैं।

गुरुवार को भी सदर अस्पताल के द्वारा 1359 लोगों का सैंपल जांच के लिये भेजा गया था, जिसमें से शुक्रवार को 38 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।  वहीं शुक्रवार को लगभग 20 लोगों की थर्मल स्कैनिंग की गयी है।


Spread the news