सुपौल : छातापुर में आपसी सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश हुई नाकाम

Spread the news

छातापुर से रियाज खान की रिपोर्ट : 

छातापुर/सुपौल/बिहार : छातापुर थानाक्षेत्र के चुन्नी पंचायत में बुधवार की रात दो समुदायों के बीच उपजे तनाव के बाद गुरूवार की सुबह समाज के प्रबुद्ध लोगों द्वारा मामले को सुलझाकर समाजिक सदभाव का मिशाल पेश किया है। गुरुवार को चुन्नी पंचायत के वार्ड नंबर एक स्थित मदरसा परिसर में एक आवश्यक बैठक हुई। बैठक में प्रखंड क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के अलावे दोनों ही समुदाय के प्रबुद्धजन शामिल हुए।

बैठक में मौजूद एक पक्ष के लोगों ने बुधवार की रात दूसरे पक्ष के द्वारा निकाले गये धार्मिक जुलूस व नारेबाजी पर आपत्ति जताते नाराजगी जाहिर की। घटना से अवगत होने के बाद प्रबुद्धजनों ने मामले को समाजिक स्तर पर सुलझाने पर अपना-अपना सुझाव दिया। तत्पश्चात दोनों ही समुदाय के लोगों द्वारा आपसी भाईचारे का परिचय देकर समाजिक सदभाव का मिसाल कायम किया गया।

सर्वसम्मति से लिये गये निर्णय के बाद थानाध्यक्ष अभिषेक अंजन सहित गश्ती दल में शामिल प्रशिक्षु पुअनि कौशिक कुमार, सुरेश प्रसाद व पीके भट्ट को बैठक में बुलाया गया। जहां प्रबुद्धजनों ने लिये गये निर्णय से अवगत कराते हुए मामले में किसी भी प्रकार की कानुनी कारवाई नहीं करने की बात कही गई। निर्णय यह भी लिया गया कि घटना में शामिल लोगों को चिन्हित कर उसे समाजिक स्तर से ही डंडित किया जाएगा। जिसकी जिम्मेवारी बैठक में मौजूद पांच लोगों को दी गई।

मालूम हो कि बुधवार की रात लगभग नौ बजे चुन्नी पंचायत में एक पक्ष के लोगों ने कुछ यूवकों द्वारा छातापुर चुन्नी पथ पर घार्मिक जुलूस निकालने व नारेबाजी करते हुए एक पक्ष के धार्मिक स्थल के सामने झंडा गाड़ देने का आरोप लगाते हुए लगभग दो घंटे तक सङक जाम कर दिया था । सङक जाम में शामिल लोगों के आक्रोश के कारण स्थिती तनावपूर्ण हो गई थी। सड़क जाम कर रहे लोगों का कहना था कि जुलूस में शामिल युवकों द्वारा धार्मिक स्थल के सामने झंडा गाड़कर नारेबाजी कर रहा था, मना करने पर जुलूस में शामिल युवकों ने कहासुनी करते हुए दोनो पक्षों में धक्का मुक्की होने लगा।  इधर सूचना पर पहुंची पुलिस को दूसरे पक्ष के लोगों ने प्रथम पक्ष के आधे दर्जन युवकों को उनके हवाले कर दिया था, लोगो का आरोप था कि पुलिस आरोपी को थाना ले जाने के बजाय सभी को भगा दिया । इस बात को लेकर दूसरे पक्ष के लोगों में आक्रोशित होकर सड़क जाम करते हुए पुलिस को घेर लिया ।

सुचना मिलने के बाद त्रिवेणीगंज एसडीएम विनय कुमार सिंह, पुलिस इंस्पेक्टर शिव किशोर प्रसाद, छातापुर थानाध्यक्ष अभिषेक अंजन, राजेश्वरी ओपी प्रभारी विश्वनाथ प्रसाद रवि, सहित कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को नियंत्रित किया गया था।

 बैठक में मोती अहमद, अकिल अहमद, धीरेंद्र यादव, संजीव मिश्रा, सैफूल्लाह अंसारी, मो जहूर आलम, मो हासीम, गौरीशंकर भगत, रामेश्वर उर्फ रमेश यादव, लल्लू सिंह, मून्ना सिंह, प्रमोद यादव, जयकुमार भगत, बबलु कुसियैत, मो जहांगीर, खलिकुल्लाह अंसारी, विपीन यादव, मो हसन अंसारी, अश्फाक खान, मौलाना हारूण, मो इजहार, जहांगीर आलम, मो फारूख, शिवनारायण मेहता, मौलाना सदरे आलम, मो सलाउद्दीन, मो ताहिर हुसैन, मो अजीज आदि मुख्य रूप से थे ।


Spread the news
advertise