मधेपुरा : अपहृत युवक की बरामदगी को लेकर आक्रोशित परिजनों ने किया हंगामा

728x90
Spread the news

मिथिलेश कुमार
संवाददाता
मुरलीगंज, मधेपुरा

मुरलीगंज/मधेपुरा/बिहार : मुरलीगंज थाना कांड संख्या 234/20 अपहरण मामले में गिरफ्तार दो अभियुक्तों को थाना से जेल भेजने के दौरान अपहृत युवक के परिजनों ने जमकर हंगामा किया। अभियुक्तों के बीच-बचाव के दौरान पुलिस को डंडा भी चलाना पड़ा।

बताया गया कि पिछले दिनों 26 जुलाई को गंगापुर पंचायत के वार्ड 6 निवासी नागो ऋषिदेव ने अपने 23 वर्षीय पुत्र दिलखुश ऋषिदेव के अपहरण होने का मामला दर्ज कराया था। इस मामले में दो युवकों को नामजद कर प्राथमिकी दर्ज कराया गया था। पुलिस ने नामजद दोनों अभियुक्तों को विभिन्न जगहों से मंगलवार की रात गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्त गंगापुर पंचायत के वार्ड 6 निवासी पवन यादव के पुत्र दिलखुश कुमार और पोखराम पंचायत के बालो यादव के पुत्र सतीश कुमार को अपहरण मामले में गिरफ्तार किया गया।

इधर अभियुक्तों की गिरफ्तारी होने की सूचना मिलते हीं अपहृत युवक के परिजन, बुधवार की सुबह से ही थाना के अगल बगल मंडराने लगे और न्यायिक हिरासत में भेजने के दौरान पीएचसी के पास दर्जनों महिला और पुरूष अभियुक्तों के साथ मारपीट करने पर उतारू हो गए। लोगों ने अपहृत युवक दिलखुश की बरामदगी कराने को लेकर काफी आक्रोशित थे। लोगों की हंगामा को देख पुलिस द्वारा तत्काल अभियुक्तों को हाजत में रखा गया। अभियुक्तों की बीच बचाव और आक्रोशित लोगों को शांत कराने के लिए पुलिस को सख्ती बरतना पड़ा।

एसआई त्रिलोकीनाथ शर्मा ने बताया कि कैदी को न्यायिक हिरासत में भेजने के दौरान अपहृत युवक के परिजनों ने हंगामा करने लगे थे, लेकिन लोगों समझा बुझा कर शांत कराकर अभियुक्तों को पुलिस जीप से न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।


Spread the news