कोरोना हेल्पलाइन : मधेपुरा सदर अस्पताल में बनाया गया जिला नियंत्रण कक्ष

728x90
Spread the news

अमन कुमार
संवाददाता, सदर
मधेपुरा

मधेपुरा/बिहार : कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये जिला प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है। कोरोना संक्रमण की जांच से लेकर मरीजों के इलाज, उनके खाने-पीने की व्यवस्था, उनके साफ-सफाई एवं दवाई की उपलब्धता समेत अन्य सुविधाओं को लेकर लगातार समीक्षा की जा रही है। साथ ही संक्रमित एवं संदिग्ध लोगों की जांच, संक्रमित व्यक्तियों के इलाज उनके खाने पीने रहने की व्यवस्था, साफ-सफाई तथा दवाई की उपलब्धता को लेकर लगातार जिले के अधिकारियों से लेकर प्रमंडलीय के अधिकारियों के द्वारा निरीक्षण कर प्रशासनिक एवं चिकित्सकीय कार्यों की समीक्षा की जा रही है। वहीं संबंधित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से लेकर अन्य अधिकारियों को भी दिशा निर्देश दिया जा रहा है कि किसी भी व्यक्ति को परेशानी का सामना ना करना पड़े, इसका ख्याल रखा जाय।

इस बात की जानकारी देते हुए जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला ने कहा कि वर्तमान स्थिति में युद्ध स्तर से कार्य किये जाने पर ही संक्रमण के फैलाव पर प्रभावी रोक लगेगा। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को साफ निर्देश दिया है कि  आइसोलेशन वार्ड में रह रहे मरीजों को समय पर खाना, पानी एवं दवा उपलब्ध कराया जाय, किसी भी किस्म की कोताही होने पर संबंधित पर कार्रवाई की जायेगी, प्रत्येक मरीज के इलाज के लिये समुचित रूप से व्यवस्था करें।

लोगों की समस्या की जानकारी के लिये बनाया गया नियंत्रण कक्ष : कोरोना वायरस को लेकर जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला के निर्देश पर जिला नियंत्रण कक्ष ने काम करना आरंभ कर दिया है। जिला नियंत्रण कक्ष के लिये दूरभाष नंबर जारी कर दिया गया है।  जिलाधिकारी नवदीप शुक्ला ने बताया कि इन नंबर पर कोरोना वायरस से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी दी जा सकती है। इसके लिए कई कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। इस नियंत्रण कक्ष में रोस्टरवार चिकित्सकीय एवं पारा मेडिकल स्टाफ की नियुक्ति की गई है, साथ ही साथ इस कक्ष को सुचारू रूप से कार्य करने के लिये एक अधिकारी की नियुक्ति की गई है।

जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए  नंबर पर कोई भी व्यक्ति कभी भी कोरोना से संबंधित जानकारी ले सकता है तथा अपनी शिकायतें दर्ज करा सकता है। संबंधित जानकारी देने के लिए कोई भी व्यक्ति फोन करेंगा तो इसे गंभीरता से लिया जायेगा एवं संबंधित समस्या का समाधान किया जायेगा। जिला पदाधिकारी ने कहा कि नियंत्रण कक्ष में तैनात सभी अधिकारियों एवं कर्मियों को साफ निर्देशित किया गया है कि लोगों के कॉल आने पर उनसे बात करें तथा उनको संतुष्ट करें।

कोरोना संक्रमित मरीज भी दर्ज करा सकते हैं शिकायत : जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमित मरीजों को होने वाली परेशानी की जानकारी के लिये तथा अन्य लोगों के लिये, जिन्हें कोरोना से संबंधित किसी तरह की जानकारी चाहिये या उन्हें कोई शिकायत करनी हो, इसके लिये सदर अस्पताल में नियंत्रण कक्ष बनाया गया है। साथ ही जिला प्रशासन ने नियंत्रण कक्ष का दूरभाष संख्या 8544421522 भी जारी कर दिया है। इस नियंत्रण कक्ष में कोई भी व्यक्ति किसी भी वक्त कोरोना से संबंधित जानकारी ले सकता है। इस नियंत्रण कक्ष से संक्रमित या संदिग्ध व्यक्ति डॉक्टर के द्वारा कॉउंसलिंग, दवाई की जानकारी, जांच की सुविधा समेत अन्य सुविधा के बारे में जानकारी ले सकता है।

 वहीं सदर अस्पताल एवं जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में  इलाजरत कोरोना संक्रमित मरीजों को भी अगर किसी तरह की परेशानी हो रही है तो वे भी यहां शिकायत दर्ज करा सकते हैं, साथ ही साथ नियंत्रण कक्ष से सभी कोरोना संक्रमित मरीज को फोन किया जायेगा एवं उनकी स्थिति की जानकारी ली जायेगी।

होम क्वॉरेंटाइन मरीजों को दी जायेगी सारी जानकारी : नये कोरोना संक्रमित मरीज की पुष्टि होने पर नियंत्रण कक्ष से फोन करके, संक्रमित मरीज होम क्वॉरेंटाइन होंगे या फिर मेडिकल कॉलेज जायेंगे,  इसकी भी जानकारी ली जायेगी, जो लोग होम क्वॉरेंटाइन रहेंगे, उन्हें फोन करके दवाई एवं स्वास्थ्य संबंधी जानकारी दी जायेगी। संक्रमित मरीज जब तक स्वस्थ नहीं हो जाते हैं तब तक उन्हें नियंत्रण कक्ष से फोन करके उनसे लगातार उनसे जानकारी ली जायेगी। आम लोग भी कोरोना संक्रमण से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी नियंत्रण कक्ष से ले सकते हैं। नियंत्रण कक्ष में 24 घंटे चिकित्सकीय पारा मेडिकल स्टाफ एवं अधिकारी रोस्टरवार उपस्थित रहेंगे। नियंत्रण कक्ष में अधिकारी के तौर पर लेखा पदाधिकारी मनीष कुमार बिहारी, शिक्षा सेवा के सहायक कार्यक्रम पदाधिकारी अरुण कुमार, सर्व शिक्षा अभियान के कनीय अभियंता सुधांशु शिवानंद एवं पौधा संरक्षण के सहायक निदेशक संजीव तांती लोगों की समस्याओं से अवगत होंगे एवं उनका समाधान करेंगे।


Spread the news