मधेपुरा : वेतन भुगतान को लेकर सौंपा मांगपत्र, यथाशीघ्र पहल की मांग

728x90
Spread the news

मो० नियाज अहमद
ब्यूरो, मधेपुरा

मधेपुरा/बिहार : गुरुवार को प्राइवेट स्कूल टीचर्स वेलफेयर एसोसिएशन के एक  पांच सदस्यीय शिष्टमंडल ने प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेल्फेयर एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष किशोर कुमार से मुलाकात कर निजी विद्यालयों के शिक्षकों के समस्याओं के निदान के लिए एक मांगपत्र सौंपते हुए यथाशीघ्र पहल की मांग की है।

टीचर्स एसोसिएशन के जिला सचिव हर्ष वर्धन सिंह राठौर, जिला उपाध्यक्ष गरिमा उर्विशा के नेतृत्व में सौंपे गए मांगपत्र में शिक्षक संघ ने कहा कि  विश्वव्यापी महामारी कोरोना से उत्पन्न हालात के कारण 22 मार्च से विद्यालय बन्द है। इसके सकारात्मक विकल्प के तौर पर ऑनलाइन पढ़ाई जारी है। जिसके कारण कुछ शिक्षकों को छोड़कर अधिकांश शिक्षकों को वेतन नहीं मिला है। दूसरी ओर कोचिंग और होम ट्युशन भी बन्द हैं। परिणामस्वरूप आय के सारे स्रोत बन्द होने के कारण सभी शिक्षक और उनके परिवार भुखमरी के कगार पर आ गए हैं।

जिला सचिव राठौर ने निजी विद्यालय संघ के जिला अध्यक्ष से मांग किया कि ऐसे विषम दौर में विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों का मार्च तक का पूरा वेतन और मार्च के बाद 50% वेतन दिया जाए। जिससे शिक्षक और उन पर निर्भर परिवार के सामने उत्पन्न समस्याओं का समाधान हो सके।

वहीं शिष्टमंडल से वार्ता करते हुए स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष किशोर कुमार ने कहा कि टीचर्स एसोसिएशन की मांग जायज है, वो विद्यालय की नींव हैं, उनके बिना विद्यालय की कल्पना नहीं की जा सकती। स्कूल के आय के सारे स्रोत वर्तमान में बन्द हो गए हैं, जिसके कारण मैनेजमेंट के सामने कई परेशानी उत्पन्न हो गई है। इसके बावजूद भी यथासंभव शिक्षकों को सहयोग करने की कोशिश है।

 उन्होंने कहा कि वे जिलाध्यक्ष के तौर पर स्कूल एसोसिएशन में टीचर्स एसोसिएशन के मांगपत्र  रखकर यथासंभव सकारात्मक पहल करेंगे। टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष की गैरमौजूदगी में नेतृत्व कर रही जिला उपाध्यक्ष गरिमा उर्विशा ने कहा कि दोनों संगठन मिलकर ऑनलाइन क्लास की सार्थकता अभिभावकों को समझाने का प्रयास करें, जिससे एक तीसरा सार्थक रास्ता स्कूल सहित सभी शिक्षकों के हित में भी निकल सके। लगभग दो घंटे तक चली इस वार्ता में विभिन्न बिंदुओं पर दोनों संगठनों ने सार्थक वार्ता की।

टीचर्स एसोसिएशन के संयुक्त जिला सचिव भारतेंदु सिंघानिया ने उम्मीद व्यक्त किया कि इस विपरीत परिस्थिति से जूझते हुए भी जल्द ही कुछ सकारात्मक निष्कर्ष निकलेंगे और शिक्षकों के चेहरे पर खोई हुई मुस्कान लौटेगी।

शिष्टमंडल में शामिल कोषाध्यक्ष सत्यप्रकाश एवं प्रवक्ता हृदय कुशवाहा ने कहा कि हाल ही में गठित टीचर्स एसोसिएशन शिक्षकों के हित में हर कारगर कदम उठाएगा। उन्होंने बताया कि विभिन्न स्तरों पर संगठन को विस्तार करते हुए और मजबूत करने की योजना जल्द ही क्रमबद्ध तरीके से शुरू की जाएगी।


Spread the news