मधेपुरा : बाढ़ प्राकृतिक आपदा नहीं बल्कि अरबों रुपया गबन करने का सबसे आसान जरिया है- पप्पू यादव  

Spread the news

वसीम अख्तर
उप संपादक

मधेपुरा/बिहार : बाढ़ को अबतक की सरकार ने पॉलिटिकल डिजास्टर क्यों बनाया है यह सवाल है मेरा ? क्योंकी यह दुधारू गाय है । यह प्राकृतिक आपदा नही है यह पैदा किया गया आपदा है फ्लड फाइटिंग के नाम पर अरबो रुपया प्रत्येक वर्ष लुट की जाती है।

उक्त बातें जाप सुप्रीमो सह पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पु यादव ने मंगलवार को मधेपुरा जिले के आलमनगर प्रखंड के बाढ प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने के दौरान कही। उन्होंने कहा कि कुसहा त्रासदी में जब वशिष्ठा कम्पनी पर आरोप लगाया गया फिर उसे दुबारा कैसे काम मिला। 264 करोड़ का काम था जो 8 साल तक लगातार स्टीमेट बढता रहा, सभी पीडब्लुडी मंत्री सहित अधिकारी की जांच चाहते है। उन्होंने कहा कि जब भी मेरी सरकार बनेगी मै बाढ घोटाले की जांच और सबके सम्पत्ति की जांच करवाऊंगा।

वीडियो :

  बिहार में बाढ़ का कहर जारी है। बाढ़ की वजह से लाखों लोग प्रभावित हैं। कोसी कहर बरपा रही है। आधा दर्जन नदियां कहीं ना कहीं लाल निशान से ऊपर ही बह रही है। ऐसा पहली बार नहीं है, बिहारहर साल ऐसी ही बदइंतजामी के चलते बाढ़ का शिकार होता है । कोसी बाढ़ का कहर झेल रहा है, सैलाब सितम ढाह रहा है, दाने-दाने के लिये लोग मोहताज हो गये हैं और सरकारें आपदा के नामपर पर अपनी झोली भरने मे लगी रही है।  सरकार कीकार्यशैली पर सवाल उठाते हुए पप्पू यादव ने कहा कि आखिर क्या वजह रही जो बाढ़ का स्थायी निदान आज तक नहीं किया जा सका। कोसी के लोग प्रत्येक वर्ष बाढ़ से त्रस्त रहने को विवश हैं, अगर कोसी पर इस क्षेत्र में रिंग बाँध बना दिया गया होता तो आज इस क्षेत्र में खुशहाली रहती, परन्तु किसी ने भी इस पर पहल नहीं किया। आज किसान परेशान हैं किसान को दो वक्त की रोटी नसीब नहीं हो पा रही है, मक्का भुसा से भी सस्ता बेचने पर मजबूर है, धान की फसल डूब जाने से किसान परेशान है।

वीडियो :

उन्होने ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि सरकार इस क्षेत्र को बाढ़ प्रभावित क्षेत्र घोषित कर प्रत्येक परिवार को सात हजार रूपया, ऋण माफी करे और सभी फसल का मुआवजा अभिलंब दे।

इस दौरान पूर्व सांसद पप्पु यादव ने मोटर वोट से क्षतौना बासा, रतवारा, खांपुर, भवानीपुर बासा, मुरौत के कटाव से विस्थापित परिवार शिवमंदिर टोला मुरौत सहित अन्य जगहों का दौरा कर बाढ पीड़ितों से मिलकर उनकी परेशानी से अवगत होते हुए उनका ढांढस बंधाया एवं बाढ पीड़ित की स्थिति के लिए सरकार से अविलम्ब बाढ पीड़ितों को सहायता दिलाने की बात कही। उन्होने कहा कि अगर सरकार अविलंब हमारी मांग पूरी नहीं करती है तो 31 जुलाई के बाद जन अधिकार पार्टी इन मुद्दों को लेकर आंदोलन करेगी।

मौके पर जाप के वरीय नेता अखिलेश कुमार यादव, प्रदेश महिला महासचिव नूतन सिंह ,आलमनगर प्रखंड जाप अध्यक्ष सुनील सिंह, मुखिया मुकेश कुमार मुन्ना, मुखिया प्रतिनिधि बमबम भगत, मो सहादत, गौरव राय, शमशाद आलम राजा, दुर्गा यादव, नीतीश राणा, राजेश रौशन, रामचन्द्र पंडित, शंकर सिंह, राहुल कुमार, संजय यादव, सुशील यादव, पौलेन्द्र सिंह निषाद,  प्रभाष कुमार पासवान, इम्तियाज आलम, आदि मौजूद थे।


Spread the news
advertise